×

Kanpur News: सगे बेटे-बहू ने मां-बाप को निकाला घर से, पुलिस कमिश्नर ने निभाया बेटे का फर्ज, दिलाया इंसाफ

वृद्ध दंपत्ति जब आपने बेटे और बहू से परेशान हो गए और उनके लिए सारे उम्मीद के रास्ते बंद हो गए तब उन्होंने हार कर कानपुर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण को अपना सारा दर्द बयां कर दिया।

Avanish Kumar

Avanish KumarReport Avanish KumarShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 2 Aug 2021 5:16 AM GMT

Son-daughter-in-law evicted elderly couple from home, police commissioner performed sons duty, got justice
X

कानपुर: पुलिस कमिश्नर ने निभाया बेटे का फर्ज, दिलाया इंसाफ

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Kanpur News: कहते हैं जिन्हें आप नाजो से पालते पूछते हैं अगर आपके वही दुश्मन बन जाए तो आप अपना दर्द किससे कहेंगे जाकर ऐसा ही एक वाकया उत्तर प्रदेश के कानपुर में देखने को मिला है। जहां एक वृद्ध दंपत्ति जब आपने बेटे और बहू से परेशान हो गए और उनके लिए सारे उम्मीद के रास्ते बंद हो गए तब उन्होंने हार कर कानपुर कमिश्नर असीम अरुण को अपना सारा दर्द बयां कर दिया उनका दर्द सुनकर कानपुर कमिश्नर असीम अरुण ने भी वृद्ध माता-पिता को न्याय दिलाने के लिए खुद ही उनके साथ चल दिए और अपनी कार में बिठाकर उनके घर पहुंच गए वृद्ध दंपत्ति को न्याय देने के बाद उनकी सुरक्षा को देखते हुए घर के बाहर पुलिस तैनात कर दिया और कलयुगी बेटे और बहू को फटकार लगाते हुए आरोपियों पर कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। जिसके बाद बुजुर्ग दंपत्ति ने कानपुर कमिश्नर असीम अरुण का शुक्रिया अदा किया और इस दौरान बुजुर्ग दंपत्ति की आंखों में आंसू भी आ गए।

क्या था पूरा मामला

कानपुर के चकेरी थाना क्षेत्र के जेके कालोनी के रहने वाले बुजुर्ग अनिल कुमार शर्मा अपनी पत्नी, बेटा अभिषेक और बहू के साथ रहते हैं। अनिल कुमार का दो माह पूर्व किसी बात को लेकर बेटे और बहू से विवाद हो गया था। जिसके बाद बेटे और बहू ने उनके साथ मारपीट की थी। इस पर बुजुर्ग ने चकेरी थाने में बेटे और बहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद भी बेटे और बहू की हरकतें बंद नहीं हुई। किसी न किसी बहाने से बुजुर्ग दंपती को परेशान कर रहे थे। दंपत्ति कई बार थाने के चक्कर लगाए। डीसीपी पूर्वी से भी दबंग बहू बेटे की करतूत बयां की, पर कहीं सुनवाई नहीं हुई।

बेटे-बहू ने था पीटा

बुजुर्ग दंपत्ति का आरोप है कि दो दिन पहले बहू और बेटे ने मिलकर उनके साथ मारपीट की। इतना ही नहीं जिस बेटे को पढ़ा लिखाकर बड़ा किया, आज उसने ही उन्हें धक्के मारकर घर से बेघर कर दिया। बारिश के मौसम में दोनों सड़क के किनारे पूरी रात गुजारी। भूख लगी तो बेटे से रोटी मांगी, पर बदले में बहू ने गालियां दी। पानी पीकर पेट की आग बुझाई।


कानपुर: पुलिस कमिश्नर ने निभाया बेटे का फर्ज

पुलिस कमिश्नर से की शिकायत

बेटे-बहू से पीड़ित दंपत्ति की जब कहीं सुनवाई नहीं हुई तो वह सीधे पुलिस कमिश्नर असीम अरुण से शिकायत की। कमिश्नर ने उन्हें कैंप दफ्तर बुलाया। जहां से वह बुजुर्ग दंपती को साथ लेकर फोर्स संग घर पहुंचे। जहां उन्होंने दंपती को उनके घर पहुंचायाकमिश्नर ने बुजुर्ग दंपती से मारपीट करने के आरोप में घर में मौजूद उनके बेटे अभिषेक और बहू को हिरासत में चकेरी थाने भेजा। बहू पर भी शांतिभंग की कार्रवाई की। कमिश्नर ने इस मौके पर कहा कि पूरे मामले पर चकेरी पुलिस से पूरी मांगी जाएगी। दंपत्ति ने जब शिकायत की तो पुलिस ने कार्रवाई क्यों नहीं की। मैं खुद इस प्रकरण को देखूंगा।



खुलवाया कमरे का ताला

बुजुर्ग दंपती को पीटकर घर से निकालने के बाद बेटे और बहू ने उनका सामान समेट कर कमरों में अपने ताले डाल दिए थे। पुलिस कमिश्नर जब घर के अंदर बुजुर्ग दंपती संग पहुंचे तो कमरे में ताले बंद देखें। पूछने पर बुजुर्ग दंपती ने उन्हीं के कमरे होने की जानकारी दी। इस पर उन्होंने बहू से दोनों कमरों के ताले खुलवाये। वहीं उन्होंने बुजुर्ग दंपती को घर में रहने की बात कहते हुए अपना नंबर दिया और दोबारा परेशानी होने पर तत्काल सूचना देने की बात कही। फिलहाल पुलिस कमिश्नर के इस कार्य की हर ओर चर्चा और तारीफ हो रही है

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story