×

वाह योगी जी! गांधी जी पर भी चढ़वा दिया भगवा रंग

sudhanshu

sudhanshuBy sudhanshu

Published on 2 Aug 2018 9:31 AM GMT

वाह योगी जी! गांधी जी पर भी चढ़वा दिया भगवा रंग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

शाहजहांपुर: अब तक आप सरकारी इमारतों, बसों, अस्‍पताल की चादरों और टायलेट को भगवा रंग में रंगे जाने के वाकयों से रूबरू हुए होंगे। अब महापुरूषों को भगवा रंग में रंगे जाने का मामला सामने आया है। इसकी शुरूआत राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की प्रतिमा से हुई है। हालांकि इस मुद्दे पर राजनीतिक पंडितों ने नई बहस छेड़ दी है।

गौरतलब है कि यूपी के शाहजहांपुर में एक और राजनिति मुद्दे ने जन्म ले लिया है। यहां रात के अंधेरे मे राष्ट्र पिता महात्मा गांधी की प्रतिमा का कलर ही बदल दिया गया। अब प्रतिमा का कलर भगवा हो गया है। भगवा रंग मे प्रतिमा को रंगने का आरोप स्थानीय बीजेपी नेताओ और कार्यकर्ताओं पर लगा है। वहीं स्थानीय लोगो ने प्रतिमा को भगवा रंग मे रंगने का कङा विरोध किया है। उनका कहना है कि अब राष्ट्र पिता की प्रतिमा को भगवा रंग मे रंगकर राजनीत करना देश का दुर्भाग्य है।

20 साल बाद भगवा हुए गांधी

दरअसल मामला थाना बण्डा के ढका घनश्यामपुर का है। यहां की ग्रामसभा की जमीन पर पिछले बीस साल से राष्ट्र पिता महात्मा गांधी की प्रतिमा लगी थी। बीस साल से लोग राष्ट्र पिता की प्रतिमा को सफेद रंग मे देख रहे थे। लेकिन आज सुबह जब ग्रामिणों की आंख खुली और घर से बाहर आने तो उन्हे वही प्रतिमा भगवा रंग मे दिखी। देखते ही देखते ये बात पूरे गांव मे फैल और उसके बाद पूरे जिले मे ये खबर आग की तरह फैल गई। स्थानीय लोगो मे भारी आक्रोश भी है। स्थानीय लोगो ने राष्ट्र पिता महात्मा गांधी की प्रतिभा को भगवा रंग मे रंगने का आरोप स्थानी बीजेपी नेताओ और कार्यकर्ताओं पर लगाया है। उनका कहना है कि अब राजनीति करने वाले नेताओ ने रंग को मुद्दा बना लिया है। इतना ही राष्ट्र पिता की प्रतिमा को ही भगवा रंग मे रंगकर बेवजह का विवाद बङा दिया है। प्रतिमा को भगवा रंग रंगने का कार्य बीजेपी कार्यकर्ताओं ने किया है। स्थानीय लोगों की मानें तो हमने बीस साल से इस प्रतिमा को सफेद रंग में देखा है। किताबों में भी सफेद रंग में देखा और पढ़ा भी है। इसलिए भगवा रंग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं स्थानीय लोगों और पूरे जिले में ये खबर फैल चुकी है। लेकिन थाने के एसओ को इसकी अभी तक खबर ही नहीं लगी है।

एसओ तेजपाल सिंह का कहना है कि अभी तक हमारे पास ऐसी कोई सूचना नहीं है। अगर ऐसा कुछ हुआ है तो वह अभी गांव में दिखवा लेते हैं।

मामला बढ़ा, तो बीजेपी ने किया किनारा

बीजेपी जिलाध्यक्ष राकेश अनावा का कहना है कि हमें इस बारे मे कोई जानकारी नहीं है। बीजेपी नेता और कार्यकर्ता इस मानसिकता के नहीं हैं कि वह प्रतिमाओं को रंगें। अगर उस प्रतिमा को रंगा गया है तो हम अभी हम उसकी जानकारी करते हैं। प्रतिमा को रंगने का काम गांव वालो ने ही किया होगा और आरोप बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लगा रहे हैं।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष कौशल मिश्रा का कहना है कि मेरे संज्ञान मे मामला आया है। हमने पहली बार राष्ट्र पिता की प्रतिमा को भगवा कलर मे देखा है। वैसे हमेशा काले पत्थर या फिर सफेद कर मे ही अभी तक प्रतिमा देखी है। यहां किसान आत्महत्या का मुद्दा भटकाने के लिए इस मुद्दे को जन्म दिया गया है। अगर बीजेपी द्वारा प्रतिमा को भगवा नही किया गया है तो सरकार उनकी है जांच कराकर कार्यवाही कर दें। वरना कल से कांग्रेस सङको पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करेगी।

एडीएम ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं।

sudhanshu

sudhanshu

Next Story