Top

प्रेमिका के घर मिलने गए प्रेमी की हत्‍या, कैरोसीन डालकर जिंदा जलाया

Admin

AdminBy Admin

Published on 31 March 2016 12:35 PM GMT

प्रेमिका के घर मिलने गए प्रेमी की हत्‍या, कैरोसीन डालकर जिंदा जलाया
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गोरखपुर: एक प्रेमी की प्रेमिका के घर पर हुई संदिग्ध मौत ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। हत्या और आत्महत्या के बीच उलझी इस पहेली में खुद पुलिस भी उलझ गई है। घटनास्थल पर मौजूद साक्ष्य आॅनर किलिंग की गवाही दे रहे हैं।

वहीं मरने के पहले की आॅडियो रिकार्डिंग में युवक अपनी बहन से साफ कह रहा है कि उसे प्रेमिका के घरवालों ने जलाया है। मृतक की बहन जहां इसे हत्या बता रही है, तो वहीं पुलिस कप्तान एकतरफा प्यार में आत्महत्या बता रहे हैं।

मृतक की बहन बबिता मृतक की बहन बबिता

क्‍या है पूरा मामला

-गोरखपुर के सहजनवां थानाक्षेत्र के कुआवल कला गांव में बबिता रहती है

-संतकबीर नगर जिले की रहने वाली बबिता की दस साल पहले शादी हुई थी।

-उसका छोटा भाई 21 साल का नागेन्द्र बहन के घर गोरखपुर आता रहता था।

-करीब एक साल पहले बहन की ससुराल में रहने वाली अर्चना के साथ उसका संबंध हो गया।

-घरवालों ने इसका विरोध किया और दोनों के मिलने-जुलने पर रोक लगा दी।

मृतक की बहन ने क्‍या कहा

मृतक की बहन बबिता की मानें तो मरने के पहले उसके भाई नागेन्द्र ने उसे बताया कि उसका अर्चना के साथ संबंध था।

इसके पहले उसे कुछ भी नहीं मालूम था।

उसने यह भी बताया कि अर्चना के माध्यम से उसके घरवालों ने मोबाइल पर काल करवाकर धोखे से बुलवाया गया।

उसे यह कहकर बुलाया कि अर्चना की तबियत बहुत खराब है और उसे आखिरी बार देखना चाहती है, तो वह आ जाए।

बहन ने अर्चना के घरवालों पर लगाए आरोप

-बहन बबिता को अर्चना के घर पर भाई नागेन्द्र के जलने की सूचना मिली, तो वह भागकर वहां पहुंची।

-गांववालों ने उसके भाई की आग बुझाई और 100 नंबर पर पुलिस को सूचना दी।

-मरने के पहले नागेन्द्र ने अर्चना के घरवालों पर जलाने का आरोप लगाया है।

-बबिता ने अपने भाई नागेन्द्र की बात का आॅडियो अपने मोबाइल में रिकार्ड कर लिया।

डॉक्‍टरों ने मेडिकल कॉलेज रेफर किया

-उसके बाद वह उसे लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सहजनवां पहुंची।

-जहां से डाक्टरों ने उसे मेडिकल कालेज रेफर कर दिया।

-मेडिकल कालेज के डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हॉस्पिटल पहुंचने से पहले प्रेमी ने तोड़ा दम

-आॅडियों में कराहती आवाज में नागेन्द्र प्रेमिका और उसके घरवालों को जलाए जाने की बात कह रहा है।

-साथ ही वह जल्‍दी से हॉस्पिटल ले जाने की गुहार भी लगा रहा है।

-लेकिन हॉस्पिटल पहुंचने के पहले ही उसने दम तोड़ दिया।

-बबिता की तहरीर पर पुलिस ने अर्चना, उसके पिता लालसा, भाई बालकेश, जोगिन्दर और ऋषि कपूर, अर्चना की मां लालमती व अन्य के खिलाफ धारा 302, 326, 147, 148, 34 के तहत मामला दर्ज कर तीन लोगों को हिरासत में लिया है।

एसएसपी अनंत देव ने क्‍या कहा...

-नागेन्‍द्र अपने घर से गैलन में मिट्टी का तेल लेकर चला था।

-एकतरफा प्यार में उसने प्रेमिका के घर पर पहुंचकर आत्मदाह कर लिया।

-पुलिस कप्तान का यह तर्क किसी के गले के नीचे नहीं उतर रहा है।

-यदि उनके इस तर्क को मान भी लिया जाए, तो यह सवाल भी पैदा होता है, कि सहजनवां पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर प्रेमिका के घरवालों को अरेस्‍ट क्यों किया?

Admin

Admin

Next Story