Top

सूखे कुएं में गिरा युवक, पुलिस-फायर विभाग ने रातभर भूखा-प्यासा छोड़ा

Admin

AdminBy Admin

Published on 31 March 2016 2:21 PM GMT

सूखे कुएं में गिरा युवक, पुलिस-फायर विभाग ने रातभर भूखा-प्यासा छोड़ा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: जिले के बिधनू थाना क्षेत्र में सूखे कुएं में एक युवक के गिरने के बाद पुलिस और फायर विभाग की संवेदनहीनता सामने आई। पुलिस और फायर कर्मियों ने सूखे कुएं में गिरे संदीप नामक युवक को रातभर उसी हालत में छोड़ दिया। उसे सुबह कुएं से बाहर निकाला गया। युवक 15 घंटे तक कुएं में ही भूखा-प्यास पड़ा रहा। बताया जा रहा है कि संदीप की मानसिक हालत ठीक नहीं है।

दरअसल, बीते बुधवार रात को कुंज विहार इलाके में संदीप (35) नाम का एक युवक 40 फिट गहरे सूखे कुए में गिर गया।संदीप के पिता राम सजीवन मौर्या ने इस बात की जानकारी पुलिस और फायर विभाग को दी। दोनों मौके पर पहुंचे भी लेकिन संदीप को कुएं से बाहर निकालने में लगभग 15 घंटे का समय लग गया। इस दौरान दोनों विभाग के कर्मचारियों ने तरह-तरह के तरीके अपनाए।

रातभर कुएं में ही रहा संदीप

-संदीप के कुएं से गिरने की वजह से काफी चोट लग गई।

-सूचना पाकर मौके पर बिधनू एसओ ब्रजेश यादव और मीरपुर फायर स्टेशन की एक गाडी पहुंची.

-कुछ देर बाद घाटमपुर फायर स्टेशन की भी एक दमकल मौके पर पहुँच गया.

-युवक के मानसिक विक्षिप्त होने की जानकारी मिलने के बाद दोनों की विभाग ने अपने पैर पीछे खींच लिए।

-उन्होंने संदीप को बाहर निकालने के लिए गांव वालों को आगे कर दिया.

-पुलिस और फायर कर्मी सारी ट्रेनिंग भूल गये और कैसे किसी की जिन्दगी बचानी है यह भी भूल गये।

पुलिस और फायर ने गांव के दो लोगों को लोगों को कुएं में उतारा

-संदीप को निकालने के लिए गांव के ही दो युवकों को पुलिस ने दबाव बनाकर कुएं में उतार दिया

-एक को सीढ़ी के सहारे तो दूसरे को रस्सी की मदद से|

-विक्षिप्त युवक उन दोनों पर हमलावर हो गया तो दोनों वापस आ गये।

विक्षिप्त युवक पर की गई पानी का बौछार

-पुलिस और दमकल कर्मियों ने युवक को बाहर निकालने का एक अनोखा तरीका निकाला।

-पुलिस कर्मियों ने करीब 25 मिनट तक युवक पर दमकल से पानी की तेज बौछार कर दी.

-इस अनोखी विधि से भी युवक को बाहर नही सकें।

परिजनों पर ही भड़क उठा पुलिस और फायर विभाग

-अजब-गजब और अनूठे तरीकों से भी युवक बाहर नहीं आया।

-दो घंटे बीत जाने के बाद इन कर्मचारियों को गुस्सा आ गया।

-वे कभी युवक को तो कभी युवक के परिजनों को खरी-खोटी सुनाने लगे।

-उन्होंने परिजनों को गालियां भी दी।

-उन्होंने निर्णय लिया इसे रात भर कुएं में ही छोड़ दो।

-उनका कहना था कि जब भूख प्यास लगेगी तो खुद ऊपर आ जायेगा।

सुबह युवक को निकाला गया बाहर

-युवक को कुएं से बाहर निकालने के लिए सुबह फायर ब्रिग्रेड की टीम दोबारा पहुंची।

-इस टीम ने रस्से की मदद से कई ग्रामीणों को कुएं में उतारा।

-संदीप ने फिर ग्रामीणों पर हमला करने का प्रयास किया, लेकिन सभी ने उसे दबोच लिया और जबरन कुएं से बहार निकाल लाये।

क्या कहना है फायर ब्रिगेड अधिकारी का

-फायर ब्रिगेड अधिकारी राम औतार सिंह के मुताबिक, बुधवार रात अंधेरा होने के कारण रेस्क्यू करने में दिक्कत हो रही थी।

-कुएं में गिरा युवक रात में आक्रोशित था, इसी वजह से रेस्क्यू बंद कर दिया था।

-वह सुबह तक कुएं में रहने के बाद वह थक गया था।

-सुबह जब कुएं में ग्रामीणों को उतारा गया तो वह फिर से हमलावर हो गया था।

-उसको रस्से से बांध कर निकाला गया है।

क्या कहना है बिधनू थानाध्यक्ष का

बिधनू थानाध्यक्ष ब्रजेश यादव ने बताया कि संदीप को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है।

-उनको चेतावनी दी गई है कि संदीप की की देखरेख करें।

Admin

Admin

Next Story