Top

VIDEO: सचिन को खास बर्थडे बधाई, मनोज तिवारी ने गाया भोजपुरी गाना

Admin

AdminBy Admin

Published on 24 April 2016 2:32 PM GMT

VIDEO: सचिन को खास बर्थडे बधाई, मनोज तिवारी ने गाया भोजपुरी गाना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजीपुर: क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर को उनके जन्मदिन पर भोजपुरी गायक और सांसद मनोज तिवारी ने गाना गाकर बधाई दी। मनोज ने एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने गाजीपुर पहुंचे थे। सचिन के 43वें जन्मदिन पर उन्होंने खुद को तेंदुलकर का फैन बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने गांव पर सचिन की प्रतिमा बनवाई, ताकि इलाके के युवा उनसे प्रेरणा ले सकें।

सुनिए मनोज तिवारी का गाना

अपने गांव में सचिन का बनवाया स्मारक

-सचिन के फैन भोजपुरी स्टार मनोज तिवारी ने बिहार के कैमूर जिले में स्थित अपने गांव अटरवलिया में स्मारक बनवाया है।

-जीवित व्यक्ति के मंदिर बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा-क्रिकेट के मैदान पर भगवान कहे जाने वाले सचिन की मूर्ति लगवाई है जो अब क्रिकेट के मैदान में नहीं दिखता।

-मैंने यह स्मारक उस सचिन की याद में बनवाया है, ताकि इस पीढ़ी के युवा उनसे प्रेरणा लेकर उनके जैसा बनने की कोशिश करे।

इंटरनेशनल स्टेडियम भी बनवाने की चाहत

-सचिन के इस मंदिर में सचिन तेंदुलकर और महेंद्र सिंह धोनी की प्रतिमाएं लगी हैं।

-इसके साथ ही मनोज तिवारी ने साल 2011 में भारत को 28 साल बाद वर्ल्ड कप जिताने वाली टीम के मेंबर्स की तस्वीरें भी लगवा रखीं हैं।

-मनोज तिवारी इस मंदिर के पास एक वर्ल्ड क्लास का क्रिकेट स्टेडियम बनाने प्रस्ताव भी रख चुके हैं।

-मनोज यहां एक ट्रेनिंग सेंटर भी बनवाना चाहते हैं, जिसमें यूपी, बिहार और झारखंड के युवा प्रतिभाशाली क्रिकेटरों को ट्रेनिंग दिया जा सके।

भोजपुरी में अश्लीलता फैलाने वालों पर हो कार्रवाई

-अंत में मनोज तिवारी ने कहा कि भोजपुरी को अश्लील बनाने वाले कलाकारों पर मीडिया को कार्रवाई करनी चाहिए।

-अगर मीडिया ऐसा नहीं कर रही है तो ये मीडिया की भी गलती है।

-अगर हम गलती करें तो उसे मीडिया को दिखाना चाहिए और भोजपुरी भाषा को अश्लीलता की श्रेणी में लाने वाले लोगों को मीडिया चिन्हित कर समाज में उजागर करे।

-भोजपुरी बहुत ही मीठी और संस्कारिक भाषा है। इसलिए प्रयास रहेगा कि भोजपुरी को आठवीं अनुसूची जल्दी दर्ज करवाया जा सके।

Admin

Admin

Next Story