Top

लखनऊ होगा सबसे बेहतर SMART CITY, बदल जाएगी नवाबों के शहर की सूरत

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 24 May 2016 7:38 PM GMT

लखनऊ होगा सबसे बेहतर SMART CITY, बदल जाएगी नवाबों के शहर की सूरत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः लखनऊ के स्मार्ट बनाए जाने वाली सिटीज की लिस्ट में जगह मिलने के बाद लखनऊ नगर निगम ने इस दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। नगर निगम ने ऐसी योजना तैयार की है, ताकि शहर देश के सभी स्मार्ट सिटीज में अव्वल हो।

चार थीम में बांटा है प्रपोजल

अपर नगर आयुक्त पीके श्रीवास्तव के मुताबिक केंद्र सरकार के निर्देश के अनुसार ही स्मार्ट सिटी का प्रपोजल तैयार किया गया है। इसमें शहर की स्ट्रेन्थ, वीकनेस, ऑपरच्यूनिटी और थ्रेट को ध्यान में रखते हुए प्रपोजल को चार थीम में बांटा गया है। ये थीम हैं:-

1. जीवंत

2. सुगम

3. स्वच्छ

4. समृद्ध

प्रपोजल के हैं दो हिस्से

स्मार्ट सिटी प्रपोजल के तहत दो हिस्से हैं। इसमें पहला पैन सिटी डेवेलपमेंट और दूसरा एरिया बेस्ड डेवलपमेंट है। पैन सिटी डेवलपमेंट में दो प्रोजेक्ट शामिल किए गए हैः-

1- जीवंतः इसमें लखनऊ स्मार्ट सिटी मैनेजमेंट सिस्टम के लिए एकीकृत पोर्टल होगा। यह पोर्टल लखनऊ शहर में काम करने वाले विभिन्न विभागों के बीच कोऑर्डिनेशन बनाने और नागरिकों के साथ सूचनाएं साझा करने के साथ उनकी शिकायतों/समस्याओं को दूर करने का काम करेगा।

2. सुगमः इसमें अर्बन मोबिलिटी: इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम, स्मार्ट सर्विलांस सिस्टम, बने हुए पार्किंग में स्मार्ट सॉल्यूशन लगाने, सिटी बस सर्विस में आईसीटी का इस्तेमाल, स्मार्ट बस शेल्टर बनाने किया जाना, एकीकृत मोबिलिटी स्मार्ट कार्ड जिसे टैक्सी, बस व मेट्रो में प्रयोग किया जा सकेगा, एलईडी बेस्ड एनर्जी एफिशियंट स्ट्रीट लाइट सिस्टम शामिल हैं। पैन सिटी प्रोजेक्ट में कुल 577.81 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया गया है।

एरिया बेस्ट डेवेलपमेंट प्रोजेक्ट में कैसरबाग का 813 एकड़ इलाका

-इस प्रोजेक्ट के तहत ड्रेनेज, जलापूर्ति, भूमिगत केबलिंग, ट्रांसफार्मर्स को विस्थापित करना, स्मार्ट मीटरिंग, एनर्जी एफिशियंट एलईडी स्ट्रीट लाइट शामिल हैं।

-यूटिलिटी डक्ट का प्रावधान इलेक्ट्रिसिटी के तारों, वॉटर, टेलिकॉम लाइन, ऑप्टिकल फाइबर केबलिंग, पीएनजी के लिए किया है।

-पीएनजी नेटवर्क, स्मार्ट ग्रिड-सोलर रूफटॉप, रेन वॉटर हार्वेस्टिंग, वेस्ट वॉटर ट्रीटमेंट और इसका दोबारा इस्तेमाल होगा।

-मलिन बस्तियों का विकास, रैन बसेरा, पार्कों का सौन्दर्यीकरण, ओपेन जिम और वाई-फाई लगाया जाएगा।

-गोमती रिवर फ्रंट डेवलपमेंट, चकबस्त रोड पर स्मार्ट सिटी नॉलेज मैनेजमेंट सिस्टम भी इस प्रोजेक्ट में शामिल है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story