मदरसे में पढ़ाने वाले मौलवी ने किशोरी के साथ किया गंदा काम

थाना क्षेत्र दुल्लहपुर के एक गांव में अरबी पढ़ाने वाले मौलवी द्वारा 12 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया। लेकिन किशोरी ने किसी तरह उसके चंगुल से भागकर अपने परिजनों को इस बात की सूचना दी।

प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

गाजीपुर : थाना क्षेत्र दुल्लहपुर के एक गांव में अरबी पढ़ाने वाले मौलवी द्वारा 12 वर्षीय किशोरी के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया। लेकिन किशोरी ने किसी तरह उसके चंगुल से भागकर अपने परिजनों को इस बात की सूचना दी।

सूचना पाकर परिजनों के साथ गांव की महिलाएं उस मौलवी के पास पहुंची और उसे पीटना शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस आरोपी को पकड़कर अपने साथ थाने लाई।

ये भी पढ़ें…मीडिया के सामने आया गाजीपुर हिंसा का असल गुनहगार, BJP पर लगाये ये गंभीर आरोप

परिजनों ने बताया कि 12 वर्षीय किशोरी अपने ननिहाल में रहती है। रोज की तरह सुबह 8:00 बजे अरबिया मदरसे में पढ़ने गई थी कि तभी एक मौलवी ने उसके साथ दुष्कर्म करने का प्रयास किया। किसी तरह किशोरी उसके चंगुल से बच कर भाग निकली और घर आकर अपने नानी व मां को इस बात की सूचना दी।

सूचना मिलते ही घर में अफरा-तफरी मच गई। घर के लोगों का शोर सुनकर मोहल्ले भर की महिलाएं जमा हो गई। और मदरसे पर पहुंच गई। उसके बाद मौलवी को पकड़कर पीटना शुरू कर दिया।

थानाध्यक्ष राजेश त्रिपाठी ने बताया कि सूचना मिलने पर हम लोग तत्काल ही उक्त मदरसे पर पहुंचकर 70 वर्षीय मौलवी को पकड़ लिया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

ये भी पढ़ें…गाजीपुर: मनोज सिन्हा की रैली में नहीं दिखें सीएम योगी, रिश्तों को लेकर उठे सवाल