×

मौनी अमावस्या पर भीड़ एवं यातायात व्यवस्था को लेकर मेला प्रशासन ने तैयार की रणनीति

मण्डलायुक्त ने रोडवेज के अधिकारियों को रेलवे स्टेशन के बाहर पर्याप्त संख्या में बसों की भी व्यवस्था सुनिश्चित बनाए रखने के भी निर्देश दिए। जिससे कि तीर्थ यात्रीगण बसों से भी अपने गंतव्य स्थल पर जा सके।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 1 Feb 2019 3:44 PM GMT

मौनी अमावस्या पर भीड़ एवं यातायात व्यवस्था को लेकर मेला प्रशासन ने तैयार की रणनीति
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

आशीष पाण्डेय

कुंभ नगर: दिव्य कुंभ भव्य कुंभ में मौनी अमावस्या पर दूसरे शाही स्नान को सुरक्षित व सकुशल सम्पन्न कराने के लिए मेला प्रशासन ने रणनीति तैयार कर ली है। इसी को लेकर शुक्रवार को मेला प्राधिकरण के आईसीसीसी सभागार में मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर भीड़ एवं यातायात प्रबन्धन की व्यवस्था को चुस्त-दुरूस्त, सुरक्षित बनायें रखने के सम्बन्ध में जिला प्रशासन, कुम्भ मेला प्रशासन एवं रेलवे के अधिकारियों, रोडवेज के अधिकारियों एवं सम्बन्धित विभागों के अधिकाकरियों के साथ बैठक आयोजित की गई।

बैठक में मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों से 04 फरवरी मौनी अमावस्या स्नान पर्व पर तीर्थयात्रियों को स्नान कराकर सकुशल वापसी हेतु बेहतर यातायात व्यवस्था बनाए रखने हेतु कहा। उन्होंने यात्रियों की सुविधा के लिए विभिन्न स्थानों पर अधिक मात्रा मे साइनेज लगाए जाने का निर्देश सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को दिए है।

उन्होंने यह भी निर्देश दिए है कि मेला में आने वाले यात्रियों को उनके गंतव्य स्थान तक जाने के लिए ट्रेनों के संचालन एवं दिशा के बारे में निरन्तर एलाउन्स करते रहें। जिससे कि तीर्थयात्रियों को कहां से और किस दिशा से जाना है, इस सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त होती रहे।

मण्डलायुक्त ने रोडवेज के अधिकारियों को रेलवे स्टेशन के बाहर पर्याप्त संख्या में बसों की भी व्यवस्था सुनिश्चित बनाए रखने के भी निर्देश दिए। जिससे कि तीर्थ यात्रीगण बसों से भी अपने गंतव्य स्थल पर जा सके। उन्होंने भीड़ प्रबन्धन के लिए स्टेशनों के पास पड़ाव व्यवस्था को भी क्रियाशील बनाए रखने का निर्देश दिया है। जिससे कि यात्रियों को वहां पर व्यवस्थित ढंग से पड़ाव स्थल पर रोकते हुए धीरे-धीरे उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाया जा सके। उन्होंने पड़ाव स्थल पर सभी मूलभूत व्यवस्थाएं सुनिश्चित किए जाने के निर्देश भी दिए है।

मण्डलायुक्त ने सभी सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों को अनिवार्य रूप से शनिवार को स्थलीय निरीक्षण करते हुए उनके विभाग से सम्बन्धित सभी आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित किए जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कन्ट्रोल रूम में अनुभवी एवं जानकार अधिकारियों की तैनाती किए जाने के लिए कहा है। जिससे कि वे ट्रेनों, बसों के संचालन सहित अन्य प्रकार की सूचनाओं के बारें में निरन्तर रूप से सही जानकारी प्रदान करते रहें।

मण्डलायुक्त ने रेलवे विभाग के अधिकारियों को रेलवे अस्पताल को निरन्तर एलर्ट रहने के लिए भी कहा है। उन्होंने यह भी कहा कि अस्पतालों तथा अन्य निर्धारित स्थलों पर पर्याप्त एम्बुलेंस की व्यवस्था रहें। उन्होंने कहा है कि एम्बुलेंस के परिचालकों को शहर के अन्य अस्पतालों में जाने के रास्ते के बारे में अच्छे ढंग से जानकारी रहें।

स्टेशनों तथा पड़ाव स्थलों पर पर्याप्त सुरक्षा बल की व्यवस्था किए जाएं।

बैठक में रेलवे एनसीआर के महाप्रबन्धक राजीव चौधरी ने ट्रेनों के संचालन एवं रेलवे स्टेशनों पर भीड़ प्रबन्धन के बारे में तक विस्तार से जानकारी दी। बैठक में अपर पुलिस महानिदेशक एस.एन.साबत, जिलाधिकारी प्रयागराज सुहास एल.वाई., डीआईजी मेला के.पी.सिंह, मेलाधिकारी विजय किरन आनन्द सहित रेलवे, आरपीएफ, रोडवेज सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहें।

ये भी पढ़ें...कुंभ में विश्व हिंदू परिषद द्वारा आयोजित धर्म संसद की तस्वीरें

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story