Top

मायावती का चुनावी शंखनाद, कहा- सैफई में खूब उड़ता है जनता का पैसा

Admin

AdminBy Admin

Published on 14 April 2016 9:10 AM GMT

मायावती का चुनावी शंखनाद, कहा- सैफई में खूब उड़ता है जनता का पैसा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: डॉ. भीम राव अंबेडकर की 125वीं जयंती की रैली के साथ ही बसपा सुप्रीमों मायावती ने चुनावी बिगुल फूंक दिया है। रैली में कार्यकर्ताओं के संबोधन में उन्होंने कहा कि यहां से जाने के बाद आप प्रदेश भर से सपा, भाजपा और कांग्रेस की चूलें हिलाने के मिशन पर जुट जाएंं। जिससे बसपा की सरकार बनने का पथ प्रशस्त हो सके। इसके साथ ही साथ सभी राजनीतिक पार्टियों पर जमकर निशाना साधा। यूपी को जंगल राज बताते हुए उन्होंने कहा कि आज कानून नहीं उन अपराधियों का बोलबाला है जो उनके शासनकाल में बिल में छुपे रहते थे।

इस सरकार के आर्थिक फैसलों की होगी जांच

इस दौरान अपने कार्यकर्ताओं को साक्षी मानते हुए उन्होंने घोषणा भी की कि इस सरकार में जितने भी आर्थिक फैसले हुए हैं वह उनकी जांच करवाएंगी और दोषियों को सलाखों के पीछे पहुंचाएंगी। उनके निशाने पर सीएम के साथ मैच खेलने वाले आईएएस अधिकारी भी रहे। इसके साथ ही उन्होंने अपना चुनावी एजेंडा भी घोषित करते हुए कहा कि वह इस सरकार में स्मारक नहीं सिर्फ विकास और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर ध्यान देंगी।

अंबेडकर जयंती के मौके पर कार्यकर्ताओं के संबोधन में मायावती अगले चुनाव के लिए पूरी तरह से आश्वस्त दिख रही थीं। मायावती अपने संबोधन में ज्यादातर बातें खुद को अगला सीएम मानकर ही कर रही थीं। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद पहली बार इतने बड़े विशाल जनसमूह को संबोधित करते समय मायावती ने बार-बार यह दुहराया कि सभी पार्टिया अंबेडकर के नाम पर अब नाटक करेंगी, लेकिन उनके बहकावे में आने की जरूरत नहीं है। बसपा ही दलितों की सच्ची हितैसी और अंबेडकर के विचारों की वाहक है।

सीएम के मेट्रो, हाईवे जैसे प्रोजेक्ट को माया ने बताया अपना

-विकास के नाम पर लखनऊ मेट्रो और हाई वे को अपना ड्रीम प्रोजेक्ट बताने वाली अखिलेश सरकार पर मायावती ने आरोप लगाया है ।

-उन्होंने कहा कि लखनऊ मेट्रो और एक्सप्रेस वे को अखिलेश अपना बता रहे हैं जबकि वे सभी प्रोजेक्ट बसपा सरकार के समय के हैं।

आईएएस पर साधा निशाना कहा मैच तो हार सकते हैं लेकिन चुनाव नही जीता सकते

-बसपा सुप्रीमों ने कहा कि भले ही सीएम के डर से आईएएस क्रिकेट मैच हार सकते हैं, लेकिन अखिलेश यादव को अगला चुनाव जितवाना उनके बस की बात नही हैं।

-मायावती के इस तेवर से अखिलेश के करीबी आईएएस लॉबी को सदमा लगना तय हैं।

सैफई में उड़ता है जनता का पैसा

-मायावती ने कहा कि सैफई महोत्सव पर जनता का पैसा पानी की तरह बर्बाद होता है।

-माया ने समाजवादी परिवार के सैफई उत्सव पर भी निशाना साधा।

-उन्होंने कहा कि जनता का पैसा सैफई महोत्सव में पानी की तरह बहाया जाता है।

-जनता का पैसा आज आईएएस के साथ क्रिकेट मैच खेलने में उड़ रहा है।

केशव मौर्या पर साधा निशाना

-माया ने कहा कहा कि साम्प्रदायिक चेहरे वाली पार्टी बीजेपी ने एक ऐसे व्यक्ति को यूपी अध्यक्ष चुना है, जिसपर दर्जनों मुकदमे हैं।

-वह पिछड़ी जाति का भले हो, लेकिन जातिवादी मानसिकता का हैं जो आरएसएस और बीजेपी से प्रेरित है।

-वह दलितों पिछड़ों के लिए कुछ नहीं करने वाला।

कांग्रेस पर भी निकाला गुस्सा

-कांग्रेस दलितों के वोट के लिए बाबा साहब के नाम का इस्तेमाल कर रही है।

-बसपा सुप्रीमों ने कहा कि जिस कांग्रेस पार्टी ने बाबा साहब के खिलाफ चुनाव में अपना प्रत्याशी उतारा और सत्ता के दुरुप्रयोग से उन्हें हरा दिया।

-आज वही पार्टी उनके नाम पर भीम ज्योति यात्रा निकाल रही है।

-बताते चलें कि चुनाव हारने के बाद भी अंबेडकर को कांग्रेस से राज्यसभा से सांसद बनाया और उन्हें कानून मंत्री बनाया था।

-इसके अलावा माया ने कहा कि कांग्रेस ने बाबा साहेब को भारत रत्न भी नहीं दिया।

-लेकिन आज वोट लेने के लिए उनका इस्तेमाल करना चाह रही है।

Admin

Admin

Next Story