×

अखिलेश को एयरपोर्ट पर रोके जाने पर योगी सरकार पर बरसी माया, लगाये ये आरोप

मायावती ने एक बयान में कहा कि मोदी सरकार तथा योगी सरकार हमारे गठबन्धन से भयभीत व बौखला गए है। इसीलिए  अब वह उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गए है। उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूण बताते हुए कहा ऐसी अलोकतांत्रिक कार्रवाईयों का हर स्तर पर जरूर डट कर मुकाबला किया जायेगा।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 12 Feb 2019 12:24 PM GMT

अखिलेश को एयरपोर्ट पर रोके जाने पर योगी सरकार पर बरसी माया, लगाये ये आरोप
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: हाल ही में हुए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबन्धन के बाद दोनों दलों में एक दूसरे के सहयोग की भावना साफ दिख रही है। दोनों ही दल एक दूसरे के पक्ष खडे होने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। बसपा सुप्रीमों मायावती ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को आज प्रयागराज नहीं जाने देने कि लिये उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट पर ही रोक देने पर इसे राजनीतिक द्वेष से प्रेरित सरकारी कदम बताया। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की तानाशाही व लोकतंत्र की हत्या का प्रतीक भी है।

ये भी पढ़ें...SC के फैसले पर मायावती बोलीं- ‘मीडिया व बीजेपी के लोग कटी पतंग ना बनें तो बेहतर’

मायावती ने एक बयान में कहा कि मोदी सरकार तथा योगी सरकार हमारे गठबन्धन से भयभीत व बौखला गए है। इसीलिए अब वह उन्हें अपनी राजनीतिक गतिविधि व पार्टी प्रोग्राम आदि करने पर भी रोक लगाने पर वह तुल गए है। उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूण बताते हुए कहा ऐसी अलोकतांत्रिक कार्रवाईयों का हर स्तर पर जरूर डट कर मुकाबला किया जायेगा।

मायावती ने कहा कि भाजपा सरकार धर्म के साथ-साथ कुंभ का भी राजनीतिक तौर पर अपहरण करके इसको भी चुनावी स्वार्थ के लिये ज्यादा से ज्यादा भुनाने का प्रयास करने में लगी हुई लगती है और इसीलिये लोग काफी आशंकित भी हैं। उन्होने अखिलेश यादव को प्रयागराज नहीं जाने देने की कार्रवाई स्पष्टतः इसी प्रयास का ही परिणाम लगता है।

ये भी पढ़ें...मायावती को सुप्रीम कोर्ट का आर्डर, हाथियों और खुद की मूर्तियों का खर्चा वापस लौटायें

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story