×

मायावती बोलीं-पठानकोट हमले के बाद होती सर्जिकल स्ट्राइक, तो उरी में बच जाते 18 सैनिक

बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि भारतीय सेना बधाई की पात्र है कि उसने सरहद पार चलने वाले आतंकी कैम्पों को नष्ट कर दिया और उन्हें काफी नुकसान भी पहुंचाया। उन्होंने कहा कि इस प्रकार सेना ने अपना वह वायदा पूरा कर दिया है जो उरी की दुःखद घटना के बाद देशवासियों से किया था।

zafar

zafarBy zafar

Published on 30 Sep 2016 2:03 PM GMT

मायावती बोलीं-पठानकोट हमले के बाद होती सर्जिकल स्ट्राइक, तो उरी में बच जाते 18 सैनिक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: पंजाब के पठानकोट स्थित वायुसेना के हवाई अड्डे पर आतंकी हमले के फौरन बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार अगर सेना को आतंकी कैम्पों पर हमले की अनुमति दे देती तो संभव था कि उरी की घटना नहीं घटती और हमारे 18 वीर सैनिक बलिदान होने से बच जाते।

पूर्व सीएम मायावती ने एक बयान जारी कर कहा है कि पाकिस्तान के साथ नियंत्रण रेखा के भीतर आतंकी कैम्पों पर सेना को कार्रवाई करने की अनुमति देना सही है, लेकिन यह देर से उठाया गया क़दम है। सरहद पार स्थापित आतंकी शिविरों को नष्ट करने की कार्रवाई काफी पहले करनी चाहिए थी।

यह भी पढ़ें...सर्जिकल स्ट्राइक पर शिवसेना ने की सेना की तारीफ, कहा- सांप को अधमरा न छोड़े

भारतीय सेना को दी बधाई

-बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि भारतीय सेना बधाई की पात्र है कि उसने सरहद पार चलने वाले आतंकी कैम्पों को नष्ट कर दिया और उन्हें काफी नुकसान भी पहुंचाया।

-उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा कि इस प्रकार सेना ने अपना वह वायदा पूरा कर दिया है जो उरी की अत्यंत ही दुःखद और अप्रिय घटना के बाद देशवासियों से किया था।

यह भी पढ़ें...जानिए कौन है पाक कब्जे में बंद भारतीय सैनिक, सदमे से हुई नानी की मौत

राजनीतिक लाभ के प्रयास की जरूरत नहीं

-बीएसपी प्रमुख ने कहा है कि मोदी सरकार के लिए यह ना तो अति उत्साहित होकर जश्न मनाने का समय है, और ना ही इस बारे में राजनीतिक व चुनावी लाभ लेने का ग़लत प्रयास करने की जरूरत है।

-उन्होंने कहा कि इसके बाद देश के सामने खतरों की चुनौतियां ज्यादा बढ गई हैं।

यह भी पढ़ें...इंडो-पाक बार्डर पर सर्जिकल स्ट्राइक के बाद यूपी में जारी किया गया हाई अलर्ट

पाकिस्तान सहित सभी सीमाओं पर हो ध्यान

-बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा कि वर्तमान सरकार ने अपने ढाई वर्षो के कार्यकाल के दौरान सीमा पर बहुत ही कम ध्यान दिया है। जिस कारण ही देश में आतंकी गतिविधियां लगातार जारी रही हैं।

-उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को पुरानी ढुलमुल नीति त्याग कर सेना को देशहित में काम करने की छूट दे देनी चाहिए।

यह भी पढ़ें...FORCE-2 का ट्रेलर लॉन्च, सर्जिकल स्ट्राइक से उत्साहित दिखे जॉन-सोनाक्षी

अमित शाह का बयान नादानी

-मायावती ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के इस दावे को राजनीति से प्रेरित और नादानी बताया कि वर्तमान घटनाक्रम के परिप्रेक्ष्य में नये भारत का उदय हुआ है।

-मायावती ने कहा अभी बुनियादी काम करना बाक़ी है। इसलिये स्वयं को ऐसी शाबाशी लेने की जल्दबाज़ी व नादानी भाजपा एण्ड कम्पनी के लोगों को नहीं करनी चाहिये।

(फोटो साभार: मलयालमएक्सप्रेसऑनलाइन)

zafar

zafar

Next Story