पत्रकार की हत्याः प्रियंका के बाद अब माया ने योगी पर साधा निशाना, कही ये बात

यूपी के गाजियाबाद में बीते सोमवार बदमाशों के हमले में घायल पत्रकार विक्रम जोशी की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत के बाद विपक्षी दलों ने ट्वीट के जरिए यूपी की भाजपा सरकार पर हमला बोल दिया है।

लखनऊ: यूपी के गाजियाबाद में बीते सोमवार बदमाशों के हमले में घायल पत्रकार विक्रम जोशी की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत के बाद विपक्षी दलों ने ट्वीट के जरिए यूपी की भाजपा सरकार पर हमला बोल दिया है। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि यूपी में कोरोना वायरस से ज्यादा अपराधियों का क्राइम वायरस हावी है तो राहुल गांधी ने कहा कि वादा था रामराज का, दे दिया गुंडाराज। जबकि समाजवादी पार्टी ने सरकार से दुखी परिजनो को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की है।

इसके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी इसे दुखद बताते हुए ट्वीट कर कहा है कि देश में भय का माहौल बनाया जा रहा है। लोगों की आवाज को दबाया जा रहा है। इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंभीर रूख अख्तियार करते हुए डीजीपी से पूरी घटना का संज्ञान लेने का निर्देश दिया है तथा मृतक पत्रकार के परिजनों को 10 लाख रुपये की आर्थिक सहायता, पत्नी को योग्यतानुसार नौकरी तथा बच्चों की निशुल्क शिक्षा का एलान किया है।

ये भी पढ़ें:CBI यहां कमजोर: इन राज्यों में नहीं कर सकती जांच, जाने क्या है प्रक्रिया

गाजियाबाद की घटना पर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट किया है कि पूरे यूपी में हत्या व महिला असुरक्षा सहित जिस तरह से हर प्रकार के गंभीर अपराधों की बाढ़ लगातार जारी है उससे स्पष्ट है कि यूपी में कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है अर्थात् यूपी में कोरोना वायरस से ज्यादा अपराधियों का क्राइम वायरस हावी है। जनता त्रस्त है, सरकार इस ओर ध्यान दे।

इस मामलें राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध करने पर पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या कर दी गई। शोकग्रस्त परिवार को मेरी सांत्वना। आगे उन्होंने लिखा है कि वादा था रामराज का, दे दिया गुंडाराज। इधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने टवी्ट कर विक्रम जोशी के परिवार के प्रति अपनी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि आज एक निड़र पत्रकार चला गया। अपनी भांजी से छेड़छाड़ के मामलें में एफआइआर दर्ज कराने के कारण उनको गोली मारी गई। देश में भय का माहौल बनाया जा रहा है। लोगों की आवाज को दबाया जा रहा है। मीडिया भी इससे बचा नहीं है।

समाजवादी पार्टी ने पत्रकार विक्रम जोशी के दो लाख रुपये की आर्थिक मदद देने का एलान करते हुए प्रदेश सरकार से मांग की है कि सरकार विक्रम जोशी के बच्चों की पढ़ाई का इंतजाम करे और उनके परिजनों को 25 लाख रुपये की मदद दे।

ये भी पढ़ें:बिहार में हाहाकार: मंत्री जी ने किया फ़ोन स्विच ऑफ, रो रहे मरीज

आपको बता दें गाजियाबाद के विजयनगर इलाके में कुछ अज्ञात बदमाशों ने पत्रकार विक्रम जोशी पर हमला किया था। घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आ चुका है। इस सीसीटीवी फुटेज में विक्रम जोशी अपनी दो बेटियों के साथ मोटरसाइकिल से जाते दिख रहे थे। उसी वक्त बदमाशों ने उन्हें घेर लिया और गोली मार दी। इस मामलें में मृतक पत्रकार के परिजनों का आरोप लगाया था कि अगर विक्रम की तहरीर पर कार्रवाई होती तो यह घटना नहीं होती। छेड़छाड़ की सूचना के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस मामलें में एसएसपी कलानिधि नैथानी ने प्रताप विहार चैकी इंचार्ज राघवेंद्र को सस्पेंड कर पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी सौंपी थी। अभी तक इस मामले में 09 आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App