×

गायत्री मंत्र से अपराध कम! मेरठ से आया अनोखा मामला, चर्चा में थानेदार

एक फरियादी ने लिखा है - मैं थाने में शिकायत करने जाता हूं, इंस्पेक्टर मुझे गायत्री मंत्र का पाठ करने की सलाह देते हैं।

Suman  Mishra | Astrologer

Suman  Mishra | AstrologerBy Suman Mishra | Astrologer

Published on 2 April 2021 9:08 AM GMT

गायत्री मंत्र से अपराध कम! मेरठ से आया अनोखा मामला, चर्चा में थानेदार
X

सोशल मीडिया से फोटो

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। पुलिस भले ही बदमाशों के साथ मुठभेड़ करने में प्रदेश में सबसे आगे है। लेकिन मेरठ में एक थाना ऐसा भी है। जहां मंत्रोच्चारण, गंगाजल और चंदन के टीके के साथ अपराधों से मुकाबला किया जाता है।

समस्याओं का समाधान

मेरठ के नौचंदी थानाध्यक्ष प्रेमचंद शर्मा अपने क्षेत्र की सबसे अधिक समस्याओं का समाधान करने का दावा कर कुछ दिनों से काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं। वहीं आईजी के पास उनकी शिकायत पहुंची तो सच्चाई कुछ और ही निकली। दरअसल, एक फरियादी को उन्होंने कार्रवाई के नाम पर गायत्री मंत्र का पाठ करने के सलाह दे डाली। आईजी ने इस मामले में जांच बैठा दी है।

एक फरियादी ने लिखा है साहब.मैं थाने में शिकायत करने जाता हूं, इंस्पेक्टर मुझे गायत्री मंत्र का पाठ करने की सलाह देते हैं। पत्नी और उसके परिवार के लोग मुझसे लाखों रुपये ठग चुके हैं। वह मेरे साथ मारपीट करते हैं। गुरुवार को एक पीड़ित ने आईजी ऑफिस में इसकी शिकायत की। इस पर आईजी ने जांच के निर्देश दिए हैं।

शादी की साजिश

नौचंदी थाना क्षेत्र में रहने वाले 58 साल के व्यक्ति के मुताबिक, पड़ोसी महिला ने तलाकशुदा महिला से उसकी शादी कराई थी। लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही महिला अपने 19 साल के बेटे के साथ मिलकर उसे पीटती है। आरोप है कि संपत्ति हड़पने के लिए उसके साथ शादी की साजिश रची गई।


थानेदार मदद के नाम गायत्री मंत्र का जाप

आरोप है कि थानेदार से मदद मांगते हैं तो वे गायत्री मंत्र का पाठ करने की सलाह देते हैं। कहते हैं कि हरिद्वार में गायत्री मंत्र का पाठ करो। वहीं गुरुवार को अधिवक्ता रामकुमार शर्मा के साथ पीड़ित आईजी के पास पहुंचा। आईजी ने नौचंदी इंस्पेक्टर के खिलाफ जांच के निर्देश दिए हैं। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि प्रकरण की जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी।



गंगाजल की बोतल और चंदन का टीका

बता दे कि इंस्पेक्टर ने होली के दिन शराब वितरित करने पर प्रतिबंध लगाने की बात कहते हुए थाने में पुलिस कर्मियों को गंगाजल की बोतल और चंदन का टीका लगाने के लिए पेस्ट बांटा था। वह शिकायत करने वाले फरियादियों को गंगाजल पिलाते हैं और फिर चंदन का तिलक लगाते हैं। इंस्पेक्टर का कहना है कि इससे काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। उनका कहना है कि गंगाजल का छिड़काव और चंदन का पेस्ट लगाने से थाने में आने वाले लोगों पर शांत प्रभाव डालता है।

कार्रवाई करने के निर्देश

पुलिसिंग की इस अजीब और अनोखे मामले पर आला अधिकारियों ने आलोचना से बचने के लिए कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। हालांकि, पीड़ित की शिकायत पर आईजी ने मुकदमा दर्ज करने और इंस्पेक्टर के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं ।

Suman  Mishra | Astrologer

Suman Mishra | Astrologer

Next Story