×

Meerut News: इंतजार होगा खत्म, ’नमो भारत’ के बाद अब मेरठ में दौड़ेगी मेट्रो

Meerut News: एनसीआरटीसी एमडी विनय कुमार सिंह ने आज बताया कि नमो भारत ट्रेनें और मेरठ मेट्रो, दोनों दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस के बुनियादी ढांचे पर ही संचालित होंगी।

Sushil Kumar
Published on: 17 Feb 2024 12:27 PM GMT
meerut news
X

मेरठ में नमो भारत ट्रेन के बाद जल्द ही चलेगी मेट्रो ट्रेन (न्यूजट्रैक)

Meerut News: दिल्ली-मेरठ नमो भारत ट्रेन के साथ अब मेरठ मेट्रो के संचालन की तैयारी तेज हो गई है। मेरठ में मेट्रो तीन रैक की है। जिसका संचालन मेरठ साउथ (परतापुर तिराहे) से मोदीपुरम के बीच होगा। जल्द मेट्रो का ट्रायल भी किया जाएगा। मेरठ में मेट्रो ट्रेनें वातानुकूलित होंगी। ट्रेनों में आरामदायक बैठने की व्यवस्था, सामान रखने की रैक, ग्रैब हैंडल, यूएसबी डिवाइस चार्जिंग सुविधा और नए जमाने के यात्रियों के लिए आवश्यक अन्य कई सुविधाएं मिलेंगी। एक मेट्रो में 700 यात्रियों को सफर करने की सुविधा उपलब्ध होगी।

एनसीआरटीसी एमडी विनय कुमार सिंह ने आज बताया कि नमो भारत ट्रेनें और मेरठ मेट्रो, दोनों दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस के बुनियादी ढांचे पर ही संचालित होंगी। मेरठ के भीतर आरआरटीएस और मेट्रो, दोनों सेवाओं को निर्बाध रूप से एकीकृत करेगा, जिससे भावी प्रगति और ट्रेन सेवा फ्रिक्वेन्सी में वृद्धि होगी। उन्होंने बताया कि मेरठ मेट्रो की पहली रैक के लोकार्पण को लेकर गुजरात के सांवली में विशेष कार्यक्रम किया गया था। इस कार्यक्रम में मेरठ मेट्रो की पहली ट्रेनसेट को एनसीआरटीसी को सौंपा गया। उन्होंने बताया कि पहला ट्रेनसेट जल्द एनसीआरटीसी के दुहाई डिपो में पहुंचेगा। उसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। मेरठ मेट्रो के लिए तीन कोच वाले 10 ट्रेनसेट की डिलीवरी होगी।

निर्माण कंपनी एल्सटॉम करेगी रखरखाव

एनसीआरटीसी एमडी के अनुसार 15 साल की अवधि के लिए इनका रखरखाव भी निर्माण कंपनी एल्सटॉम करेगी। ये ट्रेनसेट आकर्षक और आधुनिक डिज़ाइन के साथ ऊर्जा की बचत करने में सक्षम हैं। ऑटोमैटिक ब्रेकिंग सिस्टम से लैस है। स्वचालित ट्रेन सुरक्षा (एटीपी), स्वचालित ट्रेन नियंत्रण (एटीसी) और स्वचालित ट्रेन संचालन (एटीओ) के साथ संगत होंगे। इस मेट्रो ट्रेन की अधिकतम परिचालन गति 120 किमी प्रति घंटा है। बता दें कि मेरठ मेट्रो का निर्माण तेजी से चल रहा है। सभी स्टेशन तेजी से आकार ले रहे हैं।

भूमिगत टनल का निर्माण भी पहले ही पूर्ण कर लिया गया है। सभी भूमिगत स्टेशनों पर फिनिशिंग का कार्य प्रगति पर है। एनसीआरटीसी एमडी के अनुसार मेरठ मेट्रो के स्टेशन मेरठ साउथ (एलिवेटेड), परतापुर (एलिवेटेड), रिठानी (एलिवेटेड), शताब्दी नगर (एलिवेटेड), ब्रह्मपुरी (एलिवेटेड), मेरठ सेंट्रल (भूमिगत), भैंसाली (भूमिगत), बेगमपुल (भूमिगत), एमईएस कॉलोनी (एलिवेटेड), डौरली (एलिवेटेड), मेरठ नॉर्थ (एलिवेटेड), मोदीपुरम (एलिवेटेड), और मोदीपुरम डिपो (धरातल पर) पर मेट्रो की सुविधाएं उपलब्ध होंगी।

Shishumanjali kharwar

Shishumanjali kharwar

कंटेंट राइटर

मीडिया क्षेत्र में 12 साल से ज्यादा कार्य करने का अनुभव। इस दौरान विभिन्न अखबारों में उप संपादक और एक न्यूज पोर्टल में कंटेंट राइटर के पद पर कार्य किया। वर्तमान में प्रतिष्ठित न्यूज पोर्टल ‘न्यूजट्रैक’ में कंटेंट राइटर के पद पर कार्यरत हूं।

Next Story