×

प्रयागराज: कैबिनेट मीटिंग में ​योगी ने की सौगातों की बरसात, ये हैं बैठक के फैसले

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित सभी मंत्रियों ने संगम में स्नान किया। ज्यादातर मंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही डुबकी लगाए। इस दौरान कुछ मंत्री गंगा में मस्ती के मूड में भी नजर आये।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 29 Jan 2019 3:49 AM GMT

प्रयागराज: कैबिनेट मीटिंग में ​योगी ने की सौगातों की बरसात, ये हैं बैठक के फैसले
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

'आशीष पाण्डेय'

कुंभ नगर: अक्षयवट दर्शन के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरे लावलश्कर और प्रोटोकाल के साथ मेला प्राधिकरण कार्यालय में बने कैबिनेट मीटिंग स्थल पर पहुंचे और वहां उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद एवं दिनेश शर्मा सहित स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह, महिला एवं बाल विकास, पर्यटन मंत्री डा. रीता बहुगुणा जोशी एवं स्टांप एवं शुल्क व नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी समेत पूरी कैबिनेट के साथ बैठक शुरू की।

ये भी पढ़ें— कुंभ: गंगा के बीच जल क्रीडा करते योगी कैबिनेट के मंत्री, देखें रोचक तस्वीरें

प्रदेश की सरकार ने लखनऊ के बाहर पहली कैबिनेट मीटिंग की ओर इसके लिए प्रयागराज के कुंभ क्षेत्र को चुना तो प्रयागराज की जनता की योगी की कैबिनेट की ओर टकटकी लगाए रही। योगी ने भी प्रयागराज कुंभ में हुई बैठक में प्रयागराज को प्राथमिकता दी और करोंड़ों की योजनाओं का तोहफा प्रयागराज को दिया। जिसमें गंगा एक्सप्रेस वे है जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश को प्रयागराज से जोड़ता है, भारद्वाज आश्रम का सौंदर्यीकरण, श्रृंगवेरपुर धाम सौंदर्यीकरण सहित कई धार्मिक स्थलों के सौंदर्यीकरण का निर्णय लिया गया है।

ये भी पढ़ें— 30 जनवरी को गुजरात में युवाओं से ‘महासंवाद’ करेंगे PM नरेंद्र मोदी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पत्रकार वार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि प्रयागराज वैदिक काल से ही तपस्वी और आधात्म की नगरी रही है। जहां महर्षि भारद्वाज जैसे गुरू ने शिक्षा एवं दीक्षा देने का कार्य किया। महर्षि भारद्वाज विमान शास्त्र के विशेषज्ञ थे क्योंकि जो जहाज आज हम आसमान में उड़ता देख रहे हैं। उसकी रचना त्रेता युग में पुष्पक वीमान के रूप में उन्होंने ही की थी। ऐसे ऋषियों एवं मुनियों का आर्शीवाद ही प्रयागराज को दिव्य और भव्य बनाता है।

इसके अलावा बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को भी कैबिनेट की बैठक में मिली मंजूरी दी गई है। यह 296 किमी लंबा एक्सप्रेसवे 8864 करोड़ की लागत से बनेगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि किसानों की आय को दोगुना करने के लिए मंडी समिति का जनतंत्रीकरण किया जाएगा। रजिस्टर्ड किसान ही मंडी समिति का सभा पति और उप सभापति बनेगा।

उरी फ़िल्म को स्टेट जीएसटी से मुक्त

एसजीपीजीआई के चिकित्सकों को एम्स के चिकित्सकों के समान सुविधा दी जाएगी। उन्होंने बताया कि उरी फ़िल्म को स्टेट जीएसटी से मुक्त किया गया है। जार्ज फर्नांडीज की मौत पर कैबिनेट ने दुख व्यक्त किया उनकी आत्मा की शांति के लिए की प्रार्थना भी की गई।

प्रयागराज और चित्रकूट की बीच पहाड़ी पर महर्षि बाल्मीकि की मूर्ति और एक शोध संस्थान खुलेगा। मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत 3791 कुष्ठ रोगियों को आवास उपलब्ध कराया जाएगा।

मेरठ से प्रयागराज तक बनेगा दुनिया का सबसे लंबा एक्सप्रेस-वे

उन्होंने बताया कि यूपी के पश्चिमी भाग से प्रयागराज को जोड़ने के लिए मेरठ से प्रयागराज तक 600 किमी लंबा एक्सप्रेसवे बनेगा। जो दुनिया का सबसे लंबा एक्सप्रेसवे होगा। 36 हजार करोड़ की लागत से 6556 हेक्टेयर जमीन पर 4 लेन का एक्सप्रेसवे बनेगा जो 6 लेन तक भविष्य में विस्तारित किया जाने योग्य होगा।

ये भी पढ़ें— एक लंबे कालखण्ड के बाद मिल रहा है श्रद्धालुओं को अक्षयवट दर्शन: योगी

योगी सहित सभी मंत्रियों ने लगाई गंगा में डुबकी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित सभी मंत्रियों ने संगम में स्नान किया। ज्यादातर मंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही डुबकी लगाए। इस दौरान कुछ मंत्री गंगा में मस्ती के मूड में भी नजर आये।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story