Top

UP: 30 जून तक 15 फीसदी ट्रांसफर कर सकेंगे मंत्री-प्रमुख सचिव

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 11 May 2016 8:35 AM GMT

UP: 30 जून तक 15 फीसदी ट्रांसफर कर सकेंगे मंत्री-प्रमुख सचिव
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊः यूपी में मंत्री और प्रमुख सचिव 30 जून तक 15 फीसदी तबादले कर सकेंगे। इसके बाद सीएम अखिलेश यादव की मंजूरी से ही तबादले हो सकेंगे। तबादला नीति के तहत ये बड़ा फैसला सीएम की अध्यक्षता में यूपी कैबिनेट की बैठक में बुधवार को हुआ। कैबिनेट ने कुल 26 प्रस्तावों को मंजूरी दी है।

कैबिनेट के बड़े फैसले

-लखनऊ के कैसरबाग में नया और आधुनिक बस स्टैंड बनाया जाएगा।

-आगरा से इटावा लायन सफारी तक साइकिल ट्रैक को मंजूरी।

-कन्नौज का हसेरन, पीलीभीत का कलीनगर, अमरिया और चंदौली का नौगढ़ तहसील बनेंगे।

-सैफई में 385 करोड़ की लागत से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम बनाया जाएगा।

-नोएडा में कई खेलों के अंतरराष्ट्रीय सुविधा केंद्र को भी मंजूरी मिली।

यूपी कैबिनेट के अन्य फैसले

-विधान परिषद सचिवालय के समूह 'ग' कर्मियों को सीयूजी मोबाइल दिया जाएगा।

-खादी बिक्री केंद्रों के लिए रिवॉल्विंग फंड बनाया जाएगा।

-इलेक्ट्रॉनिक डाटा प्रोसेसिंग संवर्ग के कर्मचारियों के लिए नियमावली मंजूर।

-प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को खरीफ 2016 से लागू किया जाएगा।

-दलहनी, तिलहनी फसलों के बीजों पर किसानों को विशेष प्रोत्साहन मिलेगा।

अस्थायी प्रवक्ता नियमित किए जाएंगे

-अधीनस्थ शैक्षणिक (प्रवक्ता संवर्ग) सेवा नियमावली में पहला संशोधन मंजूर।

-नियमावली में अस्थायी प्रवक्ता को नियमित करने समेत कई नियम हैं।

-लखनऊ के गोमतीनगर में 200 बिस्तरों वाले बाल-महिला अस्पताल के लिए वित्तीय मंजूरी।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story