Top

कैराना में व्यापारी से मांगी रंगदारी, ना देने पर जान से मारने की धमकी

By

Published on 28 July 2016 9:59 AM GMT

कैराना में व्यापारी से मांगी रंगदारी, ना देने पर जान से मारने की धमकी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शामलीः कैराना कोतवाली क्षेत्र के गांव मवी कला में एक पशु व्यापारी के घर के बाहर पर्चा चस्पा कर चार लाख रुपए की रंगदारी मांगी गई है। व्यापारी ने रंगदारी की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने व्यापारी को बुलाकर केस दर्ज की और मामले की जांच कर रही है।

क्या है मामला?

-कैराना कोतवाली क्षेत्र के गांव मवी कला में पशु व्यापारी मेहरबान रहते हैं।

-गुरुवार की सुबह जब वह उठा तो उसने घर के बाहर दीवार पर एक पर्चा चिपका हुआ देखा।

-पर्चे पर चार लाख रूपए की रंगदारी की मांग और न देने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी

-व्यापारी ने इसकी सूचना कैराना कोतवाली पुलिस को दी।

-सुचना पाते ही पुलिस ने व्यापारी को बुलाकर बदमाशों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की।

-कैराना में यह मामला नया नहीं है इससे पहले भी बदमाशों ने लोगों से रंगदारी मांगी है।

-अब तक बदमाशों द्वारा दो दर्जन व्यापारियों से पर्चे और फोन द्वारा रंगदारी वसुली जा चुकी है।

-बदमाशों को अगर रंगदारी नहीं दी जाती है तो वह उन्हें मौत के घाट उतार देते हैं।

बदमाशों को नहीं कानून का डर

-कैराना के बीजेपी संसद हुकुम सिंह ने रंगदारी का मुद्दा संसद में भी उठाया था।

-रंगदारी के खिलाफ कैराना काफी सुर्खियो में रहा है।

-बदमाशों के हौसले इतने बुलंद है कि उन्हें कानून का कोई खौफ नहीं है।

-बदमाश बेखौफ अपने इरादे को अंजाम दे रहे है।

क्या कहते हैं व्यापारी मेहरबान और उनके भाई गफ्फार?

-हमारी किसी से कोई रंजिश नहीं है न ही हमारे पास इतना पैसा है।

-हम जानवर बेचकर अपने घर का काम चला रहे है।

-दोनों भाई 4 लाख की रंगदारी से सहमे और डरे हुए है।

-बदमाशो ने 29 अगस्त तक 4 लाख का इंतजाम करने को कहा है।

क्या कहती है पुलिस?

-कैराना कोतवाल भरद्वाज और जांच अधिकारी ने कहा कि ये मामला रंजिश का लग रहा है।

-पशु व्यापारी प्रधानी चुनाव लड़ चूका है जिसमें वो हार गया था।

-मौजूदा प्रधान ने व्यापारी द्वारा तालाब पर कब्जा की हुई जमीन पर राजस्व विभाग द्वारा हटा लिया है।

-इसी के चलते ये मामला नजर आ रहा है बाकि जांच की जा रही है।

-जांच के बाद घटना का खुलासा हो जाएगा।

Next Story