Top

BJP MLA ने CM योगी को लिखा पत्र, कहा- संसाधनों की कमी के चलते मर रहे मरीज

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए बस्ती जिले के रुधौली के विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने सीएम को पत्र भेजा है।

Newstrack

NewstrackNewstrack Network NewstrackMonikaPublished By Monika

Published on 3 May 2021 2:34 PM GMT

BJP MLA ने CM योगी को लिखा पत्र, कहा- संसाधनों की कमी के चलते मर रहे मरीज
X

विधायक संजय प्रताप जायसवाल (फोटो: सोशल मीडिया) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बस्ती: कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के बढ़ते मामलों ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है। कोरोना वायरस की ये दूसरी लहर पहले से कई गुना ज्यादा खतरनाक है। कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है, जिसके चलते अस्पतालों में बेड (no bed in hospitals) की कमी हो गई है, वहीं ऑक्सीजन (oxygen) की भी किल्लत हो गई है। कुछ ऐसा ही मामला यूपी के बस्ती (Basti) का भी दिखा। जिसे देखते हुए बस्ती जिले के रुधौली के विधायक संजय प्रताप जायसवाल (MLA Sanjay Pratap Jaiswal) ने सीएम योगी (CM Yogi) को पत्र भेजा है। उन्होंने कोविड अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित हुए मरीजों के इलाज के लिए जांच किट, आक्सीजन, टीका, बेड आदि संसाधन उपलब्ध कराए जाने की मांग की है।

विधायक संजय प्रताप जायसवाल ने सीएम को पत्र लिख सुचना दी कि कोरोना से संक्रमित मरीजों की दर प्रत्येक दिवस सैकड़ों की संख्या में इजाफा हो रहा है, जिसके चलते बस्ती की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है। मृत्यु दर भी 165 से अधिक हो चुकी है।

वहीं, जिले के महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कॉलेज एवं उससे संबंद्ध ओपेक चिकित्सालय कैली, जिला चिकित्सालय बस्ती, कोविड अस्पताल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र मुंडेरवा सहित अन्य बनाए गए कोविड अस्पताल में रेडमेसिविर इंजेक्शन, आक्सीजन, जांच किट, अस्पतालों में बेड की उपलब्धता की मांग कोरोना संकट के कारण बढ़ गई है।

विधायक संजय प्रताप जायसवाल द्वारा लिखा पत्र (फोटो: सोशल मीडिया)

मरीजों तक सुविधाएं पहुंचने में देरी

संजय प्रताप ने पत्र के मध्य से यह भी बताया कि मरीजों तक सुविधाओं को पहुंचाने में जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग की ओर से देरी किया जा रहा है। इलाज को लेकर डाक्टरों, मरीजों एवं तीमारदारों के बीच समन्वय स्थापित नहीं हो पा रहा है। इस कारण से केंद्र और प्रदेश सरकार के प्रति आम जन मानस का विश्वास घट रहा है। कैली व अन्य कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था न होने के कारण मरीज दम तोड़ रहे हैं।

Monika

Monika

Next Story