Top

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सिंह की धमकियों के चलते गाजीपुर में हारी सपा

Admin

AdminBy Admin

Published on 6 March 2016 5:24 PM GMT

कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सिंह की धमकियों के चलते गाजीपुर में हारी सपा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गाजीपुर: सपा का गढ़ माने जाने वाला गाजीपुर जिले में एमएलसी चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी विशाल सिंह चंचल ने सपा प्रत्याशी सानंद सिंह को 65 वोट से मात दी। दोनों के बीच कांटे की टक्कर रही। विजयी प्रत्याशी ने सपा उम्मीदवार की हार के लिए केबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सिंह की धमकियों और उनके प्रति लोगों के आक्रोश को कारण बताया।

सपा के गढ़ में दी मात

मतगणना के दौरान शुरू से ही उहापोह की स्थिति देखने को मिली। जैसे-जैसे मतगणना कार्य समाप्ति की ओर बढ़ा विशाल सिंह चंचल की जीत तय होती दिखी। अंततः निर्दलीय प्रत्याशी ने सपा उम्मीदवार को 65 वोट से हरा दिया। जीत से उत्साहित कार्यकर्ताओं ने गाजे-बाजे के साथ विजयी प्रत्याशी का स्वागत किया।

कैबिनेट मंत्री के प्रति गुस्सा बना जीत की वजह

विशाल सिंह चंचल ने कहा, 'प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश सिंह के प्रति आक्रोश का ही नतीजा है कि मेरी जीत सुनिश्चित हुई है'।

अन्य पार्टियों को सहयोग के लिए दी बधाई

चंचल ने इस जीत का श्रेय कौमी एकता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष अफजल अंसारी और भाजपा, बसपा समेत जिले के सभी मतदाताओं को दी। उन्होंने कहा कि जिस आशा और विश्वास के साथ लोगों ने मुझ पर भरोसा किया है मैं उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करूंगा।

जीत के बाद मंदिर गए

इसके बाद विशाल सिंह चंचल सभी का अभिनंदन करते हुए अपने पैतृक गांव गौरी तेतरा पहुंचकर मां दुर्गा के मंदिर में पूजा अर्चना की।

2017 विधानसभा चुनाव के लिए सपा को चेताया

वहीं विशाल सिंह चंचल के चाचा और बसपा एमएलसी राजदेव सिंह ने कहा कि मेरी लड़ाई सपा से नहीं बल्कि मंत्री ओम प्रकाश सिंह बनाम राजदेव सिंह का परिवार था। कैबिनेट मंत्री के प्रति लोगों के गुस्से का फायदा भी हमें मिला है। यदि यही हाल रहा तो विधानसाभा चुनाव 2017 में सपा की और ही दयनीय स्थिति हो जाएगी।

Admin

Admin

Next Story