Top

मुस्लिमों में पैठ बनाने में जुटी BJP, फर्जी आतंकी केसों पर लगेगी लगाम

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 1 Jun 2016 12:07 AM GMT

मुस्लिमों में पैठ बनाने में जुटी BJP, फर्जी आतंकी केसों पर लगेगी लगाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अलीगढ़ः मुसलमानों में बीजेपी अपनी पैठ बनाने की कवायद में जुट गई है। पार्टी ये दिखाना चाहती है कि मुस्लिम विरोधी होने का उस पर लगा तमगा गलत है। शायद इसी के तहत मोदी सरकार में कानून मंत्री डीवी सदानंद गौड़ा ने मंगलवार को बयान दिया है।

विकास पर्व मनाने आए गौड़ा ने मुस्लिम युवकों को आतंकी बताकर उन पर लगाए जाने वाले फर्जी मुकदमों पर चिंता जताई। मंत्री ने कहा कि ऐसे तमाम मामले हैं, जहां सबूत न होने पर आरोपी बरी किए गए। यानी उन पर लगाए गए मुकदमे गलत थे। ऐसे मामलों पर रोक लगाने की तैयारी भी केंद्र सरकार कर रही है।

सदानंद गौड़ा ने क्या कहा?

-इस तरह के मामलों पर रोक लगाने की कोशिश जारी है।

-लॉ कमीशन इस बारे में रिपोर्ट देने पर विचार कर रहा है।

-सुप्रीम कोर्ट के जज की अध्यक्षता में पैनल रिपोर्ट बना रहा है।

राजनाथ ने भी कदम उठाने की बात कही थी

-हाल ही में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी ऐसी ही बात कही थी।

-उन्होंने कहा था कि पुलिस को मुस्लिम युवाओं से जुड़े मामलों में संयम बरतने को कहा गया है।

-आरोपियों पर मुकदमे की जगह उन्हें काउंसिलिंग देने पर जोर है।

-जैश के मॉड्यूल में शामिल रहने के आरोपी 10 युवाओं में से 7 को दिल्ली पुलिस ने छोड़ा भी था।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story