Top

अफजाल अंसारी का आरोप, मुख्तार के साथ हुआ अमानवीय व्यवहार

बसपा सांसद अंसारी ने कहा पंजाब के रोपड़ जेल से बाँदा आते समय मुख्तार अंसारी के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया है ।

Anoop Hemkar

Anoop HemkarReport By Anoop Hemkar

Published on 7 April 2021 10:20 AM GMT

अफजाल अंसारी का आरोप, मुख्तार के साथ हुआ अमानवीय व्यवहार
X

photos (social media)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बलिया । बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बड़े भाई व सांसद अफजाल अंसारी ने पंजाब के रोपड़ जेल से बांदा ले आते समय मुख्तार अंसारी के साथ अमानवीय बर्ताव करने का आरोप लगाते हुए आज कहा है कि बेहतर रहेगा कि मुख्तार अंसारी को चौराहे पर खड़ाकर गोली मार दी जाय।

मुख्तार अंसारी के साथ दरिंदे सरीखा अमानवीय व्यवहार किया गया है

गाजीपुर के बसपा सांसद अंसारी ने आज न्यूस्ट्रैक से बातचीत करते हुए दावा किया है कि पंजाब के रोपड़ जेल से बाँदा ले आते समय मुख्तार अंसारी के साथ दरिंदे सरीखा अमानवीय व्यवहार किया गया है । उन्होंने दावा किया है कि तकरीबन 15 घण्टे की रोपड़ से बाँदा की यात्रा में मुख्तार अंसारी को रास्ते में न तो पानी पीने दिया गया और न ही भोजन करने दिया गया । मेडिकल सुविधा भी नही दी गई ।

मुख्तार अंसारी को डेढ़ घण्टे तक जेल से बाहर एम्बुलेंस में रखा गया

उन्होंने कहा कि अमानवीय व्यवहार के कारण मुख्तार अंसारी की तबीयत बिगड़ गई है । मुख्तार अंसारी बाँदा जेल में अर्द्धमूर्छित अवस्था में पहुंचा है । उसका मधुमेह व रक्तचाप बढ़ गया है। जेल में चिकित्सक की अनुशंसा को जेल प्रशासन नही स्वीकार कर रहा। उसे उपचार कराने के बजाय नींद का इंजेक्शन दिया गया है। उन्होंने इसके साथ ही कहा है कि बाँदा जेल पहुंचने पर मुख्तार अंसारी को डेढ़ घण्टे तक जेल से बाहर एम्बुलेंस में रखा गया । उन्होंने बताया कि आज सुबह 9 बजे कुछ परिचित मुख्तार अंसारी से जेल में मुलाकात करने बाँदा जेल पहुंचे थे , उन्हें मुलाकात कराये बगैर जेल परिसर से भगा दिया गया ।

photos (social media)

गाजीपुर के बसपा सांसद अंसारी ने कही यह बात

बसपा सांसद अंसारी ने कहा है कि मुख्तार अंसारी विचाराधीन बंदी है , परन्तु सजायाफ्ता न होने के बावजूद उसके साथ कैदी सरीखा सलूक किया जा रहा है । उसे अभी से सजा दिया जा रहा है । ऐसा व्यवहार देश के इतिहास में किसी कैदी के साथ अभी तक नही किया गया । योगी सरकार ने अंग्रेजी हुकूमत को भी पीछे छोड़ दिया है ।

मुख्तार अंसारी को चौराहे पर खड़ाकर गोली मार दिया जाय

उन्होंने आरोप लगाया है कि जेल नियमों के विपरीत मुख्तार अंसारी को बाँदा जेल के तन्हाई बैरक में रखा गया है । उन्होंने कहा कि कानून के रखवाले आतंक मचा रहे हैं । इससे बेहतर होगा कि मुख्तार अंसारी को चौराहे पर खड़ाकर गोली मार दिया जाय । उन्होंने इसके साथ ही कहा है कि मुख्तार अंसारी की आड़ में बांदा में प्रशासन आम लोगों का उत्पीड़न कर रही है ।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shraddha

Shraddha

Next Story