Top

मैनपुरी में हत्यारे बने पुलिसकर्मी, 100 रुपए घूस न देने पर 2 लोगों की ली जान

कानपुर की पुलिस चौकी में दलित युवक की हत्या में 13 पुलिसकर्मियों के फंसने के बाद अब मैनपुरी में 4 पुलिसवालों और दो होमगार्डों पर 2 लोगों की हत्या का केस दर्ज हुआ है। मामला 100 रुपए घूस का है। आरोप है कि घूस न देने पर दोनों की एक चेकपोस्ट पर पीट-पीटकर हत्या कर दी।

aman

amanBy aman

Published on 6 Aug 2016 9:04 AM GMT

मैनपुरी में हत्यारे बने पुलिसकर्मी, 100 रुपए घूस न देने पर 2 लोगों की ली जान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मैनपुरी : कानपुर की पुलिस चौकी में दलित युवक की हत्या में 13 पुलिसकर्मियों के फंसने के बाद अब मैनपुरी में 4 पुलिसवालों और दो होमगार्डों पर 2 लोगों की हत्या का केस दर्ज हुआ है। मामला 100 रुपए घूस का है। आरोप है कि घूस न देने पर दोनों की एक चेकपोस्ट पर पीट-पीटकर हत्या कर दी। पहले पुलिस ने दावा किया था कि पुलिस से भागते वक्त दोनों तालाब में डूबकर मर गए, लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट ने पुलिस की पोल खोल दी।

क्या है मामला?

-दिलीप यादव और पंकज यादव चचेरे भाई थे।

-दोनों के रिश्तेदार अवनीश ने पुलिस में हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

-रिपोर्ट के मुताबिक दिलीप और पंकज दो अन्य मजदूरों के साथ ईंट से लदे ट्रक पर जा रहे थे।

-गिहोर थाना इलाके के कोसमा में पुलिसवालों ने चेकपोस्ट पर शुक्रवार को ट्रक को रोका।

-ट्रक को जाने देने के लिए 100 रुपए घूस मांगा, जिसका ड्राइवर विनेश ने विरोध किया।

पीट-पीटकर हत्या कर दी

-एफआईआर के मुताबिक विनेश और दो अन्य मजदूर नेत्रपाल और राधामोहन मौके से भाग गए।

-इसके बाद पुलिसवालों और होमगार्डों ने दिलीप और पंकज की जमकर धुनाई की।

-दोनों के शव बाद में पास के तालाब से मिले।

-इस मामले में उग्र ग्रामीणों ने सड़क जाम कर दी। मौके पर पहुंचे दो पुलिसवालों को भी पीटा गया।

क्या कहते हैं अफसर?

-मैनपुरी के एसपी देवरंजन वर्मा के मुताबिक 4 पुलिसवालों और 2 होमगार्ड के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।

-इनके नाम सब इंस्पेक्टर उदयवीर सिंह, हेड कॉन्सटेबल गिरीश चंद, कॉन्सटेबल गौरव सिंह और विनय गौतम हैं।

-इनके अलावा ईंट भट्ठे के मालिक सुनील वर्मा लालू और प्रमोद दुबे पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story