×

सपा नेता ने लगवाया वाटर कूलर,बजरंग दल ने हथौड़े से तोड़ दी नेमप्लेट,कहा- 'मुस्लिम व्यक्ति का नाम मंदिर में बर्दाशत नहीं'

अलीगढ़ के मंदिर में वाटर कूलर लगाने का मामला तूल पकड़ गया है। खेरेश्वर महादेव मंदिर में वाटर कूलर लगवाने के दौरान एक लोकार्पण पत्थर भी लगाया गया, जिसे बजरंग दल के कार्यकर्ता ने तोड़ दिया है। जिस पर समाजवादी पार्टी के नेता सलमान शाहिद ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि समाजवादी पार्टी जोड़ने का काम करती है तोड़ने का नहीं। मंदिर में वाटर कूलर लगवाना नेक काम है। खैरेश्वर धाम मंदिर समिति कार्रवाही करने के बारे में जो निर्णय लेगी वह उन्हें स्वीकार होगा।

Priya Panwar

Priya PanwarNewstrack Priya PanwarGarima SinghReport Garima Singh

Published on 1 July 2021 1:49 AM GMT

सपा नेता ने लगवाया वाटर कूलर,बजरंग दल ने हथौड़े से तोड़ दी नेमप्लेट,कहा- मुस्लिम व्यक्ति का नाम मंदिर में बर्दाशत नहीं
X

वाटर कूलर लगवाकर शिलापट्ट के सामने फोटो खिंचवाते सपा नेता और अन्य 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अलीगढ़. अलीगढ़ के मंदिर में वाटर कूलर लगाने का मामला तूल पकड़ गया है। खेरेश्वर महादेव मंदिर में वाटर कूलर लगवाने के दौरान एक लोकार्पण पत्थर भी लगाया गया, जिसे बजरंग दल के कार्यकर्ता ने तोड़ दिया है। जिस पर समाजवादी पार्टी के नेता सलमान शाहिद ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि समाजवादी पार्टी जोड़ने का काम करती है तोड़ने का नहीं। मंदिर में वाटर कूलर लगवाना नेक काम है। खैरेश्वर धाम मंदिर समिति कार्रवाही करने के बारे में जो निर्णय लेगी वह उन्हें स्वीकार होगा।

शिलापट्ट को हथोड़े से तोड़ते बजरंग दल के नेता

दरअसल, समाजवादी पार्टी के नेता सलमान शाहिद ने मंगलवार को खेरेश्वर महादेव मंदिर में आरओ वाटर कूलर लगवाया। इस दौरान लोकार्पण करते हुए पत्थर भी लगवाया गया। जब इसकी जानकारी बुधवार को बजरंग दल के कार्यकर्ता को हुई तो वे खेरेश्वर धाम मंदिर पहुंचे और लोकार्पण के पत्थर को हथौड़ा मारकर तोड़ दिया। बजरंग दल के कार्यकर्ता का कहना है कि मंदिर में पहले भी प्लाऊ दान किया गया है, लेकिन किसी के नाम का पत्थर नहीं लगा। जब एक मुस्लिम व्यक्ति ने आरओ दान किया तो लोकार्पण का पत्थर भी लगाया दिया गया। ये हिन्दू रीति के अनुरुप नहीं है, वे हमारे मंदिरों में धीरे-धीरे घुस रहे हैं। बजरंग दल का कहना है कि संगठन मस्जिद में प्याऊ लगाएगा तो क्या वे वहां भगवा झंडा लगाने के लिए तैयार हो जाएंगे। भाजपा युवा मोर्चा के जिलाअध्यक्ष मुकेश लोधी ने भी शिलापट्टिका का विरोध जताया है और एक वीडियो जारी करते हुए कहा है कि हिन्दू धार्मिक स्थल पर गैर समुदाय के द्वारा दान की गई पट्टिका नहीं लगने दी जाएगी।

वहीं इस घटना को लेकर वरिष्ठ सपा नेता सलमान शाहिद का कहना है कि मंदिर में भक्तों के पेयजल की समस्या थी। उनकी भी आस्था भगवान शिव में हैं। मंदिर समिति के कहने से स्वामी पूर्णानंद गिरी महाराज की उपस्थिति में आरओ वाटर कूलर लगाया गया। इस दौरान शिलापट्टिका भी लगाई गई। सपा नेता सलमान शाहिद ने कहा कि 'हम समाजवादी लोग है, जोड़ने पर विश्वास करते हैं। तोड़ने पर विश्वास नहीं करते' । उन्होंने ये भी कहा कि ''हमारे नेता की सोच है कि कर्म करते रहिए। कोई क्या करता है । इसका फर्क नहीं पड़ता। सपा नेता ने कहा कि अभी भी कोई मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे , चर्च की समिति कोई सहयोग की बात करती है. तो वाटर कूलर लगाने का काम करेंगे। जिन लोगों ने शिलापट्टिका तोड़ी है इन पर विश्वास नहीं करते। खैरेश्वर धाम मंदिर समिति कार्रवाई करने के बारे में जो निर्णय लें। हमें स्वीकार है।'' इस मामले में समाजसेवी मनोज यादव ने बताया कि बजरंग दल का काम केवल लोगों को भड़काना है। सलमान शाहिद ने कोई आरओ वाटर कूलर मंदिर में लगाया है, तो नेक काम किया है।


#Aligarh मंदिर में सपा नेता सलमान शाहिद की लगी शिालापट्टिक को बजरंग दल ने हथौड़े से तोड़ा, मुस्लिम व्यक्ति का नाम मंदिर में बर्दाशत नहीं। #SamajwadiParty #AkhileshYadav pic.twitter.com/VQeSyhbjSK

Priya Panwar

Priya Panwar

Next Story