Top

अब कानपुर में गैंगरेप, प्रधान ने नाबालिग को अगवाकर किया कुकर्म

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 3 Aug 2016 8:09 AM GMT

अब कानपुर में गैंगरेप, प्रधान ने नाबालिग को अगवाकर किया कुकर्म
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

कानपुर: बुलंदशहर,रामपुर और बरेली के बाद अब कानपुर में भी गैंगरेप का मामला सामने आया है। बिल्हौर थाना क्षेत्र में एक ग्राम प्रधान ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर गांव की एक नाबालिग को अगवा कर दो दिनों तक गैंगरेप किया। इसके बाद गांव के बाहर फेंककर फरार हो गए। नाबालिग दूसरे समुदाय की होने की वजह से गांव में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई।

यह भी पढ़ें... NH-91 पर बदमाशों का तांडव, लूट के बाद मां-बेटी से किया गैंगरेप

बेहोशी की हालत में बच्ची को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। होश में आने पर उसने परिजनों को आपबीती बताई तो सभी के होश उड़ गए। परिजनों ने बिल्हौर थाने में तहरीर दी है।

क्‍या है पूरा मामला

-बिल्हौर कोतवाली थाना क्षेत्र के सेहबासू गांव में रहने वाली 14 साल की किशोरी बाबा की मज़ार पर गई और घर लौटते समय गायब हो गई।

-नाबालिग लड़की जब काफी देर तक घर नहीं पहुंची तो परिजनों को चिंता हुई।

-उन्होंने लड़की को सभी जगह तलाश, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला।

यह भी पढ़ें... वीडियो से खुला राज: धर्म की वजह से प्रेमिका ने छोड़ा तो किया गैंगरेप

-दो दिन बाद 30 जुलाई को परिजनों को सूचना मिली कि गांव के बाहर उनकी लड़की बेहोशी की हालत में पड़ी है।

-बदहवास परिजन भागे और लड़की को साइकिल पर लादकर घर लाए और उसके होश में आने का इंतजार किया।

-पूरे एक दिन बाद जब लड़की होश में आई और उसने अपने परिजनों को अपने साथ हुई आप बीती बताई तो उनके होश उड़ गए।

यह भी पढ़ें... बरेली में टीचर से गैंगरेपः गुस्‍साए लोगों ने NH-24 पर लगाया जाम

-आनन-फानन में परिजन बिल्हौर थाने पहुंचे लेकिन थानाध्यक्ष ने उनको वहां से लौटा दिया।

-लड़की की हालत लगातार बिगड़ने पर परिजन उसको शहर के निजी हॉस्पिटल में भर्ती कराकर इलाज करा रहे थे

- उसी समय मीडिया के जरिए पुलिस अधिकारियों को जब नाबालिग से गैंगरेप की खबर मिली तो उनके होश उड़ गए।

-वहीं हॉस्पिटल में भर्ती पीड़िता ने बताया कि जुमे की रात को बाबा की मजार से लौट रही थी।

-उसी समय पीछे से एक कार आई और उसमे से दो लोग उतरे और मुझे नशीला पदार्थ सुंघा दिया।

-इसके बाद मुझे जब होश आया तो मैंने खुद को एक कमरे में बंद पाया।

-वह बारी-बारी से रेप करते रहे मैंने तीनों को पहचान लिया जिसमे प्रधान कल्लू मिश्रा उसके दो साथी अशोक और भूरे थे।

-जब मैंने विरोध किया तो उन लोगों ने मुझे जबरन नशीला पदार्थ खिलाया इसके बाद मुझे तीन दिनों तक होश नही आया।

पीड़िता के पिता ने बताया कि

-जब मुझे जानकारी हुई कि मेरी बेटी गांव के बाहर पड़ी है तो उसको उठा कर लाए, लेकिन जब उसको होश नहीं आया तो हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

-जब उसको होश आया तो उसने बताया कि कल्लू प्रधान ने अगवा कर अपने दो साथियों के साथ रेप किया है।

डिप्टी एसपी बिल्हौर मनीष सिंह के मुताबिक

-जब यह बच्ची लापता हुई थी तो परिजनों ने थाने में सूचना नहीं दी थी।

-जब इनको बच्ची मिल गई इसके बाद भी सूचना नहीं दी।

-लेकिन अब तहरीर दी गई है आरोपियों की गिरफ़्तारी के लिए टीम को रवाना कर दिया गया है।

Newstrack

Newstrack

Next Story