×

योगी जी ध्यान दें: भूख से पीड़ित है इस राष्ट्रीय खिलाड़ी का पूरा परिवार

राष्ट्रीय खिलाड़ी विवेक मिश्रा जी ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को चिट्ठी लिखकर मदद की गुहार लगाई है।

Ramkrishna Vajpei

Ramkrishna VajpeiWritten By Ramkrishna VajpeiVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 30 May 2021 10:21 AM GMT

National player Vivek Mishra has written a letter to Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath ji asking for help.
X

राष्ट्रीय खिलाड़ी विवेक मिश्रा(फोटो साभार-सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

National player Vivek Kumar Mishra: उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में रहने वाले नेटबाल के राष्ट्रीय खिलाड़ी विवेक कुमार मिश्र का परिवार कोरोना काल में भुखमरी का शिकार हो गया है। खिलाड़ी ने 20 मई को इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर गुहार भी लगाई है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है।

खिलाड़ी ने टेलीफोन पर हुई एक बातचीत में कहा, मेरा नाम विवेक कुमार मिश्रा है। मैं उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले का रहने वाला हूं। मैं एक राष्ट्रीय खिलाडी हूं। मैं अंशकालीन मानदेह प्रशिक्षक (कोच) के रूप मे स्टेडियम मिर्जापुर मे नौकरी करता था।

एकमात्र सहारा नौकरी वो भी चली गई

मेरी नौकरी के वेतन से मैं पूरे परिवार का खर्च चल रहा था। मेरे परिवार में मेरे दादा जी, दादी जी हैं। मेरी दादी बीते 5 साल से स्ट्रोक की रोगी हैं और विकलांग हैं। उनकी दवा इलाज मैं ही करता था।

इनके अलावा मेरी माँ हैं। पिता जी हैं। मेरे पिता जी एक गरीब छोटे किसान हैं। मेरा एक छोटा बच्चा है। मेरी बहन विकलांग है। उसकी ऊँगली कटी है। वह भी बीएड की छात्रा है। उसकी पढाई के लिए मैंने अपने रिश्तेदार से पैसा कर्ज लेकर नाम लिखाया था कि स्टेडियम मे नौकरी कर रहा हूं, कर्ज चुका दूंगा।

बहन विकलांग है अपनी पढ़ाई कर लेगी, परन्तु ऐसा नही हुआ। मेरी बहन की छात्रवृत्ति का पैसा पिछले साल भी नहीं आया, ना ही इस बार आया। इस साल की फीस भी जमा नहीं हुई है। और मेरी नौकरी भी चली गई है!

विवेक मिश्रा ने कहा- महोदय मैं अकेला क्या-क्या करूं दादी जी की दवा कराऊं। बहन की फीस दूं या रिश्तेदार का कर्ज चुकाऊं या घर पर रोटी की व्यवस्था करूं। क्या करूं। मेरा एक छोटा बच्चा हैं उसकी परवरिश कैसे करूं, आप ही बतायें।

उन्होंने कहा, मैने इस विषय पर मुख्यमंत्री, जिला अधिकारी को पत्र लिखा, परंतु अभी तक कोई मदद नही हुई है। आप से हाथ जोड़ निवेदन हैं कि इस पर विचार कर मदद करें।

विवेक ने कहा- मैं प्रदेश के लिये खेलता हूं और यह दिन देखना पड़ेगा, कभी सोचा नहीं था। मुख्यमंत्री योगी जी मैं आप से हाथ जोड़ निवेदन करता हूं कि आप मेरी और मेरे परिवार की मदद करें। मैं व मेरा पूरा परिवार सदैव आप का आभारी रहेगा!




Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story