Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

राष्ट्रीय युवा दिवस: जागरुकता रैली निकालकर नागरिकों को दिया पोषण व सेहत का संदेश

राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर आई केयर इंडिया के विलेज विंडो स्कीम के जैविक सत्याग्रह अभियान के तहत आज लखनऊ में 1090 चौराहा गोमतीनगर से पांच किलोमीटर पदयात्रा और 15 किलोमीटर साइकिल यात्रा निकाली गई।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 12 Jan 2019 10:35 AM GMT

राष्ट्रीय युवा दिवस: जागरुकता रैली निकालकर नागरिकों को दिया पोषण व सेहत का संदेश
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर आई केयर इंडिया के विलेज विंडो स्कीम के जैविक सत्याग्रह अभियान के तहत आज सांस्कृतिक स्वर घोलती स्वस्थ लखनऊ यात्रा 1090 चौराहा गोमतीनगर से पांच किलोमीटर पदयात्रा और 15 किलोमीटर साइकिल यात्रा निकाली गई। साइकिल यात्रा समता मूलक चैराहा, लोहिया पार्क, अंबेडकर उद्यान, जनेश्वर मिश्र पार्क, गोमती नगर विस्तार होते हुए सीएमएस गोमतीनगर से यू टर्न लेकर वापस 1090 चैराहे पर समाप्त हुई।

ये भी पढ़ें...विशेष स्वच्छता रैली को सीएम योगी ने हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

यात्रा के इस अवसर पर पूर्व मुख्य सचिव अतुल कुमार गुप्ता व आलोक रंजन, राजस्व परिषद के अध्यक्ष प्रवीण कुमार, मंडलायुक्त लखनऊ, जिलाधिकारी लखनऊ, मुख्य विकास अधिकारी लखनऊ, नगर आयुक्त व महापौर लखनऊ, विद्यालयो-महाविद्यालयों के शिक्षक छात्र-छात्राएं एनसीसी कैडेट्स व सामाजिक संस्थाएं शामिल हुई।

उन्होंने सैकड़ों की संख्या में गुब्बारे छोड़कर स्वस्थ लखनऊ यात्रा की शुरुआत की। पदयात्रा के दौरान पंजाबी ढोल, बैण्ड वादन, गिटार वादन, गायन और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। स्वास्थ्य और पोषण विषय पर नुक्कड़ नाटक भी मंचित हुआ। जीतेश श्रीवास्तव के उम्दा संचालन में हुूए सांस्कृतिक कार्यक्रमों व पदयात्रा में बड़ी संख्या में एनसीसी कैडेट्स ने भी उत्साह से भाग लिया।

आई केयर इंडिया के मिशन लीडर अनूप गुप्ता ने बताया कि इस पद यात्रा और साइकिल राइड का उद्देश्य लखनऊ के लोगों में, खासतौर से युवाओं और बच्चों में स्वास्थ्य और पोषण के प्रति जागरूकता लाना है।

ये भी पढ़ें...विश्व टीबी दिवस: KGMU ने की मरीजों के लिए जागरूकता रैली, बताए ये उपाय

उन्होंने बताया कि अधिक जहरीले कीटनाशकों और उनके अंधाधुंध इस्तेमाल, सब्जियों को ताजा चमकदार दिखाने हेतु रंगों का प्रयोग, इंजेक्शन के द्वारा उगाई सब्जियां व सब्जियों को गंदे पानी से धोने से न चाहते हुए भी हमारे शरीर में निरंतर धीमा जहर जा रहा है। परिणाम स्वरूप बच्चों-गर्भवती महिलाओं में भी अनेक प्रकार की बीमारियां तथा कैंसर जैसी गंभीर बीमारी विकराल रूप से बढ़ रही है, पंजाब इसका ज्वलंत उदाहरण है।

समय रहते हमें जागरूक होना होगा नहीं तो हमें और उससे ज्यादा आने वाली पीढ़ियों को इसकी कीमत चुकानी होगी। आज के परिवेश में लोग, खासतौर से महिलाएं जब अपने बच्चों की अच्छी से अच्छी परवरिश के लिए चिंतित हैं तो यह बात और भी महत्वपूर्ण हो जाती है। जागरूकता आने से जैविक उत्पादों की मांग बढ़ने पर ज्यादा से ज्यादा किसान भी इसकी खेती के लिए आगे बढ़ेगें। इससे उनको उनके उत्पाद की मिली बेहतर कीमत उनके जीवनस्तर में सुधार लाएगी।

किसानों के लिए क्षेत्रीय स्तर पर साझा ब्रांड मार्केटिंग एवं लॉजिस्टिक्स की व्यवस्था विकसित करते हुए उनको सीधे उपभोक्ता से भी जोड़ा जाएगा। इसी क्रम में एक ऐप भी लांच किया गया।

उनके द्वारा बताया गया कि आई केयर इंडिया का यह सामूहिक प्रयास लगातार चलता रहेगा और यह भी प्रयत्न रहेगा कि लोगों में जागरूकता लाते हुए लखनऊ को स्वास्थ्य जागरूकता के मामले में अव्वल दर्जे पर लाया जाए।

ये भी पढ़ें...विश्व एड्स दिवस पर स्टूडेंट्स ने निकाली जागरूकता रैली , लोगों को कहा BE AWARE!

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story