×

Ghaziabad News: गाजियाबाद के इस इलाके में बिना बैलगाड़ी के नहीं जा सकते हैं अपने घर, जानिए चौंकाने वाली वजह

गाजियाबाद के पावी कॉलोनी में इतना जलभराव हो जाता है की लोगों को आने जाने के लिए बैलगाड़ी का सहारा लेना पड़ता है।

Bobby Goswami

Bobby GoswamiReport Bobby GoswamiAshikiPublished By Ashiki

Published on 30 July 2021 2:36 PM GMT

Ghaziabad News
X

 बैलगाड़ी से आवाजाही करते लोग 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

गाजियाबाद: यूपी के गाजियाबाद (Ghaziabad) का एक इलाका ऐसा है, जहां पर लोगों को अपने घर जाने के लिए बैलगाड़ी का इस्तेमाल करना पड़ता है। वे लोग अपने घर पैदल नहीं जा सकते। ना ही अपने घरों से बाहर पैदल जा सकते हैं। आपको भी इस इलाके के बारे में जानकर हैरानी हो जाएगी। लेकिन यकीन मानिए आप जब बैलगाड़ी से जुड़ा हुआ यह कारण जानेंगे तो हैरान रह जाएंगे।

इलाके के लोगों ने कॉलोनी का नाम रखा गड्ढा कॉलोनी

हैरानी इस बात की है कि इलाके के लोगों ने इलाके का नाम गड्ढा कॉलोनी रख दिया है। दरअसल यह इलाका लोनी के पास टॉनिका सिटी के नजदीक का इलाका है। इलाके को पावी के नाम से जाना जाता है। यहां की एक कॉलोनी में इतना जलभराव हो जाता है, कि लोगों को अपने घर जाने के लिए बैलगाड़ी का इस्तेमाल करना पड़ता है। बच्चे जब शाम को ट्यूशन जाते हैं, तो उन्हें बैलगाड़ी से ट्यूशन छोड़ा जाता है। और वापस आते समय उन्हें ट्यूशन से लाने के लिए बैलगाड़ी का ही इस्तेमाल किया जाता है।


पिछले कई सालों से यह समस्या यहां पर है। लोगों का आरोप है कि बारिश के कई दिनों बाद तक इसी तरह के हालात रहते हैं। इलाके का एक तालाब ओवरफ्लो हो जाता है। जिसके चलते समस्या बनी हुई है। इलाके में गहराई बढ़ रही है। इसलिए उसका नाम गड्ढा इलाका रख दिया गया है।


दूसरी बीमारियों का खतरा पैदा हो गया है

इस इलाके में कई अन्य बीमारियों का खतरा भी पैदा हो गया है। एक तरफ कोरोना का खतरा है, तो दूसरी तरफ कई दिनों तक पानी एकत्रित रहने से पानी में बदबू आने लगती है। बच्चों के लिए सबसे ज्यादा मुश्किल पैदा हो गई है। लोगों का आरोप है कि इस मामले की शिकायत भी की गई है। लेकिन समाधान नहीं निकला है। कुछ लोग अगर अपने घरों से कहीं बाहर जाना चाहते हैं, और उनके पास बैलगाड़ी हीं है, तो वह इसी गंदे पानी में से होकर बाहर जाते हैं। जिससे उनके पैरों में छाले और एलर्जी की शिकायतें बढ़ गई हैं। अब तो बाहर के कुछ लोग इस इलाके को बैलगाड़ी वाले इलाके के नाम से भी पुकारने लगे हैं।

Ashiki

Ashiki

Next Story