Top

नेताजी ने बापू को कहा था राष्ट्रपिता, जानिए किसने दिया था नाम महात्मा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 30 Jan 2016 10:21 AM GMT

नेताजी ने बापू को कहा था राष्ट्रपिता, जानिए किसने दिया था नाम महात्मा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: महात्मा गांधी भले ही जवाहर लाल नेहरू से अगाध स्नेह रखते हो लेकिन उन्हें नेताजी सुभाष चन्द्र बोस ने ही पहली बार फादर आफ नेशन 'राष्ट्रपिता' कह कर पुकारा था। नेताजी ने 4 जून 1944 को सिंगापुर रेडियो से प्रसारित अपने संदेश में महात्मा गांधी को 'राष्ट्रपिता' कहा था। नेताजी के इस संबोधन के बाद ही उन्हें राष्ट्रपिता कहा जाने लगा । हालांकि आजादी के आंदोलन में नेताजी उनकी पसंद कभी नहीं रहे। कांग्रेस के 1938 में हुए अधिवेशन में अध्यक्ष का चुनाव भी होना था।

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस अध्यक्ष पद के प्रत्याशी थे। महात्मा गांधी ने पट्टासिताभिरमैया को नेताजी के खिलाफ अपना प्रत्याशी ये कह कर धोषित किया कि मेरे प्रत्याशी की हार मेरी हार होगी। चुनाव हुआ और नेताजी जीत गए, लेकिन जल्द ही अपने पद से इस्तीफा भी दे दिया। कविवर रवीन्द्र नाथ टैगोर ने 1914 में गांधी जी को महात्मा कह कर पुकारा था और उसी दिन से गांधी जी महात्मा गांधी हो गए।

महात्मा गांधी की आज 68वीं पुण्यतिथि पर देश उन्हें याद कर रहा है । 30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोडसे ने उन्हें दिल्ली में गोली मार दी थी। राजधानी लखनऊ में उन्हें लोगों ने श्रृद्धांजलि दी और उनकी मूर्तियों पर फूल चढांए। हजरतगंज इलाके में बापू की प्रतिमा पर भी लोगों ने फूल अर्पित किए। इसबीच लगातार रामधुन तथा वैष्णवजन ते देने कहिए रे ......बजते रहे।

Newstrack

Newstrack

Next Story