Top

बहू ने गाड़ा ससुराल के सामने तंबू, बोली- पति को लेकर जाना ही पड़ेगा

Admin

AdminBy Admin

Published on 26 April 2016 7:24 AM GMT

बहू ने गाड़ा ससुराल के सामने तंबू, बोली- पति को लेकर जाना ही पड़ेगा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक विवाहिता न्याय की मांग करते हुए अपने ससुराल के सामने टेंट लगाकर बैठ गई है। इस दौरान उसके परिजन भी उसके साथ मौजूद हैं। उसका कहना है कि जब तक उसका पति उसे अपने साथ नहीं ले जाता तब तक वह यहां इसी तरह बैठी रहेगी। पुलिस दोनों पक्षों से आपस में समझौता करने की बात कह रही है। पुलिस का कहना है कि यदि दोनों पक्षों में कोई बात नहीं बनती तो पुलिस जांच कर उचित कार्रवाई करेगी।

ससुराल के सामने तम्बू लगाकर बैठी विवाहिता और उसके परिजन ससुराल के सामने तम्बू लगाकर बैठी विवाहिता और उसके परिजन

क्या है पूरा मामला

-जाग्रति विहार निवासी मनमोहन गुप्ता की बेटी शालिनी गुप्ता अपने पिता, मां कुसुमलता और भाई विपुल के साथ सोमवार देर शाम श्रद्धापुरी स्थित अपनी ससुराल पहुंची।

-जब ये लोग वहां पहुंचे तो दरवाजे पर ताला लगा मिला, इसके बाद ये सभी लोग दरवाजे पर ही धरना देकर बैठ गए।

protest2

पिछले दो महीने से मायके में ही थी विवाहिता

-शालिनी ने बताया कि उसकी शादी चार दिसंबर 2015 को अक्षय सिंघल पुत्र नरेन्द्र के साथ हुई थी।

-विवाहिता ने बताया कि दो माह से वह अपने मायके गई हुई थी, लेकिन उसके ससुराल वाले उसे लेने नहीं गये।

-उन्होंने बताया कि यहां आने से पूर्व ही ससुराल वाले ताला लगाकर चले गए।

-उसने बताया कि जब तक उसे उसका हक नहीं मिल जाता तबतक वह यहां से नहीं जाएगी।

-महिला और उसके परिजनों ने सुसराल के बाहर तंबू लगा लिया है और वहीं पर बैठे हुए हैं।

-पूरी रात परिवार के लोग घर के बाहर दरवाजे पर बैठे रहे।

-सुबह ससुराल पक्ष से कुछ रिश्तेदार भी वहां पहुंचे और धरने पर बैठे लोगों से बात की, लेकिन दोनों पक्षों के बीच कोई बात नहीं बनी।

क्या कहना है पुलिस का

-थाना कंकरखेड़ा एसओ यादराम यादव ने बताया कि दोनों पक्षों को बातचीत के लिए बुलाया गया है। उसके बाद ही पुलिस कोई कार्रवाई करेगी।

-वहीं शालिनी का कहना है कि जब तक उसे न्याय नहीं मिलेगा वह यहां से नहीं जाएगी।

-परिवार के लोग दहेज के लिए उत्पीड़न करने का आरोप लगा रहे हैं।

Admin

Admin

Next Story