×

IMPACT : रंग लाई 'स्वच्छता' पर UP के बलवंत की मुहिम, योगी सरकार ने ली सुध

कहते हैं जहां चाह वहां राह और अगर ठान लो तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं। इसी क्रम में newstrack.com की खबर का असर हुआ है।

tiwarishalini

tiwarishaliniBy tiwarishalini

Published on 28 Sep 2017 7:43 AM GMT

IMPACT : रंग लाई स्वच्छता पर UP के बलवंत की मुहिम, योगी सरकार ने ली सुध
X
IMPACT : रंग लाई 'स्वच्छता' पर UP के बलवंत की मुहिम, योगी सरकार ने ली सुध
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ : कहते हैं जहां चाह वहां राह और अगर ठान लो तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं। इसी क्रम में newstrack.com की खबर का असर हुआ है। यूपी के बलिया जिले में पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान की अलख जगाने में जुटे नौजवान का सपना भी अब साकार होने की कगार पर है। दरअसल, 24 सितंबर 2017 को newstrack.com ने एक खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी। जिसका संज्ञान प्रशासन ने लिया है। बलिया के रेवती ब्लॉक के एडीओ कवींद्र राय ने बिसौली गांव जाकर प्राथमिक विद्यालय से लेकर गांव तक की सफाई व्यवस्था का जायजा लिया है।

इसके अलावा सफाईकर्मियों को ठीक तरीके से काम नहीं करने पर फटकार भी लगाई है। शासन स्तर से मिले निर्देश पर यह कार्रवाई हुई है। बता दें कि बिसौली गांव का एक युवक बलवंत सिंह पीएम नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान का हिस्सा है। पिछले एक साल से वह अपने क्षेत्र में लोगों को सफाई के प्रति जागरूक कर रहा है। उसने अपनी गांव की सफाई व्यवस्था को लेकर आवाज बुलंद की है। गंदगी देखने पर यह नौजवान खुद ही सड़कों पर झाड़ू लगाने लगता है। युवक ने अभी कुछ दिन पहले ही यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से भी मुलाकात कर गांव की समस्या के बारे में बताया था। सीएम ने इस नौजवान के प्रयासों की तारीफ भी की थी। इसके अलावा सीएम योगी ने बलिया में प्रशासनिक स्तर पर मदद करने का आश्वासन भी दिया था। इसके बाद newstrack.com पर खबर प्रकाशित होने के बाद अफसरों के कान खड़े हुए हैं।

सफाईकर्मियों को 8 घंटे काम करने का आदेश

एडीओ कवींद्र राय ने बिसौली गांव के कई जगहों का निरीक्षण किया। उन्हें मौके पर कई जगह गंदगी देखने को मिली है। उन्होंने बताया कि गांवों के प्राथमिक विद्यालय में भी काफी गंदगी मिली है। नालियों की सफाई उचित तरीके से नहीं हो रही है। उन्होंने सभी सफाईकर्मियों को कम से कम 8 घंटे सफाई कार्य करने को कहा। बाद में शिकायत मिलने पर कार्रवाई की भी बात कही।

यह भी पढ़ें .... मोदी के स्वच्छता अभियान की अलख जगाने में जुटा यूपी का ये नौजवान

मनमाने तरीके से काम करते हैं सफाईकर्मी

बिसौली गांव के लिए तीन सफाईकर्मी नियुक्त हैं। लेकिन, इनके काम करने के तरीकों पर हमेशा गांव के लोग सवाल उठाते रहते हैं। बिसौली के प्राथमिक विद्यालय के हेड मास्टर महेश यादव ने बताया कि महीने में केवल चार बार ही स्कूल की सफाई होती है। यानि हफ्ते में केवल एक दिन स्कूल में सफाई का कार्य होता है। स्कूल परिसर में हमेशा गंदगी बनी रहती है। एडीओ ने तीनों सफाईकर्मियों को रोजाना विद्यालय साफ करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा उनको बताया है कि गांव को साफ रखने में आप लोगों की अहम भूमिका है। इसलिए अपने कार्य को बखूबी करें।

बलविंदर ने रखी अपनी बात

सफाई के लिए लगातार आवाज उठाने वाले युवक बलवंत सिंह ने एडीओ कवींद्र राय से कहा कि सड़क किनारे हमेशा गंदगी रहती है। सफाईकर्मी काम नहीं करते हैं। स्कूलों से लेकर गांव की समस्याओं के बारे में बलवंत सिंह ने एडीओ को अवगत कराया है। इस पर एडीओ कवींद्र राय ने सफाई व्यवस्था को सुधारने का आश्वासन दिया है।

यह भी पढ़ें .... शौचालय के लिए सविता ने बेचा मंगलसूत्र, ऐसे बदल दी गांव की तस्वीर !

श्रीनगर के बिलाल की तरह काम कर रहा है ये नौजवान

पीएम नरेंद्र मोदी ने 24 सितंबर को रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' में भी स्वच्छता अभियान का जिक्र किया था। उन्होंने श्रीनगर के रहने वाले युवक बिलाल डार को सफाई अभियान का हिस्सा बनने के लिए धन्यवाद किया था। बता दें कि नौजवान बिलाल डार को श्रीनगर नगर निगम ने अपना ब्रांड एम्बेसडर घोषित किया है। छोटी सी उम्र में बिलाल डार ने एक साल में 12 हजार किग्रा कूड़े को अकेले साफ किया है। उसके इस सराहनीय कदम को देखते हुए उसे नगर निगम का ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी ने मन की बात में बिलाल डार की काफी तारीफ की। श्रीनगर के बिलाल दार की तरह ही यूपी के बलवंत सिंह भी पीएम के स्वच्छता अभियान को अपनी जिदंगी का हिस्सा बना चके हैं।

स्वच्छता को कॅरियर बना चुका है बलवंत

बलिया जिले के बांसडीह तहसील के बिसौली गांव का रहने वाले बलवंत सिंह (25) ने अपना जीवन पीएम नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान को समर्पित कर दिया है। करियर बनाने की उम्र के पड़ाव में बलवंत ने स्वच्छता को ही अपना भविष्य मान लिया है। करीब एक साल से वह अपने क्षेत्र में सफाई को लेकर सक्रिय है। चाहे सफाईकर्मी अपना काम करें या ना करें। लेकिन, बलवंत खुद ही झाड़ू लेकर सड़क पर आ जाता है। बलवंत के पिता कालिका सिंह किसान है।

यह भी पढ़ें .... जावड़ेकर ने कहा- अस्वच्छता के कारण बहुत से टूरिस्ट नहीं आते भारत

अपने क्षेत्र से लेकर बलिया शहर में हमेशा रहता है तत्पर

करीब एक साल से बलवंत सिंह सफाई अभियान में लगा हुआ है। अपने क्षेत्र से लेकर बलिया शहर में उसने अनेकों बार सफाई को लेकर आवाज उठाई है। डीएम से लेकर नगर निगम के अधिकारियों तक में उसके सफाई अभियान की चर्चा है।

बलवंत का है सपना ‘हर घर में हो शौचालय अपना’

बलवंत सिंह का कहना है कि मैं ‘स्वच्छ भारत मिशन’ से जुड़ा हूं। मैंने पहले अपने आप को स्वच्छ किया है फिर जाकर दूसरों को सफाई के लिए रोजाना जागरूक करता हूं। मैं करीब एक साल से सफाई के कार्य में लगा हूं। अपने क्षेत्र की सफाई का जिम्मा मैंने उठाया है। मैं गांव-गांव जाकर लोगों को सफाई के बारे में समझाता हूं। इसके अलावा सहतवार से लेकर बलिया में कई स्वच्छता अभियान पर कार्यक्रम भी कर चुका हूं। मेरा मुख्य उद्देश्य है कि यूपी के हर गांवों मे रहने वाले लोगों के घरों में अपना खुद का शौचालय हो। इसके लिए मैं लगा हूं।

यह भी पढ़ें .... काशी में PM मोदी, बोले- मेरे लिए पूजा की तरह ही है स्वच्छता

स्वच्छता ही मेरे लिए पूजा है : पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी 23 सितंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में थे। जहां उन्होंने कहा था कि स्वच्छता ही मेरे लिए पूजा है। इससे मेरे देश के गरीबों को विभिन्न बीमारियों से निजात मिलेगी और इन बीमारियों से बढ़ने वाला आर्थिक बोझ से भी छुटकारा मिलेगा। अपने आस-पड़ोस को साफ करना हर नागरिक और परिवार की जिम्मेदारी है ताकि हम स्वच्छ गांव, स्वच्छ शहर और स्वच्छ देश बनाने में सक्षम हो सकें।

tiwarishalini

tiwarishalini

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story