Top

ठगी करने वाले नाइजीरियन गिरोह का भंडाफोड़, 20 लोगों से उड़ाए एक करोड़

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 30 April 2016 2:48 PM GMT

ठगी करने वाले नाइजीरियन गिरोह का भंडाफोड़, 20 लोगों से उड़ाए एक करोड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: लॉटरी के नाम पर लुभावने ऑफर का लालच देकर ठगी के आरोप में तीन नाइजीरियन को गिरफ्तार किया गया है। केरल पुलिस और साइबर एक्सपर्ट टीम ने ग्रेटर नोएडा में शुक्रवार रात दबिश देकर इन्हें गिरफ्तार किया।

इन पर आरोप है कि तीनों आरोपियों ने केरल के तीन दर्जन से ज्यादा लोगों से करीब एक करोड़ की ठगी कर चुके हैं। अभी तक 20 पीड़ितों को केरल पुलिस ने ट्रेस किया है। पुलिस तीनों को कोर्ट में पेश कर केरल ले जा रही है।

लोकेशन ट्रेस के आधार पर हुई गिरफ़्तारी

साइबर एक्सपर्ट और मोबाइल लोकेशन ट्रेसिंग के आधार पर शुक्रवार रात केरल पुलिस ग्रेटर नोएडा पहुंची। लोकल पुलिस को सूचना देने के बाद सिग्मा-1 सेक्टर में दबिश दी गई। इस दौरान केरल पुलिस ने यहा तीन नाइजीरियन को गिरफ्तार किया। इनके पास से इनकी आईडी भी मिली। इनके लैपटॉप से कई लोगों के एकाउंट सहित अन्य दस्तावेज भी बरामद हुए। साइबर एक्सपर्ट की टीम सभी कागजों की जांच कर रही है।

नार्थ ईस्ट से ऑपरेट होता था कारोबार

केरल पुलिस के इंस्पेक्टर ओए सुनील ने बताया ये लोग लॉटरी के एवज में लोगों से ठगी करते थे। उन्हें लुभावने ऑफर के साथ खुद को नाइजीरिया का बड़ा शख्स बताते थे। एनसीआर में कोई शक न करे इसलिए इनके सभी एकाउंट नार्थ ईस्ट में खुले हैं।

गैंग में एक लड़की भी है शामिल

इस गोरखधंधे में एक लड़की भी शामिल है। वह लड़की नार्थ ईस्ट में खुले एकाउंट के एटीएम आरोपियों को लाकर देती थी। इसके एवज में लड़की को कमीशन दिया जाता था। फिलहाल पुलिस लड़की की तलाश कर रही है।

ऐसे करते थे ठगी ?

ये पहले लोगों के मेल ट्रेस करते थे। इसके बाद उनके मेल पर लॉटरी जीतने का एक मेल करते थे। रिप्लाई आने पर ये उन्हें लुभावने ऑफर दिखाकर उनसे ठगी करते थे। चूंकि एकाउंट नार्थ ईस्ट के बैंकों का होता था। लिहाजा पुलिस को जांच में परेशानी होती थी।

दो के पास वीजा-पासपोर्ट नहीं

पकड़े तीनों आरोपियों विक्टर, चेरी और ओबी ज्वाला में से विक्टर को छोड़कर शेष दोनों के पास न तो पासपोर्ट है और न ही वीजा।

ग्रेनो पुलिस ने चलाया था वेरिफिकेशन अभियान

ज्ञात हो कि हाल ही में ग्रेटर नोएडा पुलिस ने नाइजीरियन लोगों के लिए वेरिफिकेशन अभियान चलाया था। ऐसे में दो नाइजीरियन कैसे बच गए अब यह सवाल जांच का है।

केरल पुलिस के मुताबिक गिरोह में आधा दर्जन से ज्यादा लोग शामिल हैं। इनमें से तीन को गिरफ्तार किया गया है बाकी अभी फरार हैं।

20 विक्टिम को किया ट्रेस

केरल पुलिस के मुताबिक 20 विक्टिम को ट्रेस किया जा चुका है। जिनसे इन लोगों ने करीब 50 लाख रुपए तक की ठगी की है।

केरल पुलिस इससे पहले भी दिल्ली में ठगी के नाम पर सात लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। लिहाजा इसी गिरफ्तारी के बाद नाइजेरियन का लिंक मिला।

Newstrack

Newstrack

Next Story