Top

मैली गंगाः पार्टनर मिला नहीं, करसड़ा STP चलाने की तारीख तय

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 14 May 2016 11:54 PM GMT

मैली गंगाः पार्टनर मिला नहीं, करसड़ा STP चलाने की तारीख तय
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

वाराणसीः पीएम नरेंद्र मोदी का सपना गंगा को साफ करने का है, लेकिन अफसरशाही का ढुलमुल रवैया उसमें पलीता लगा रहा है। मामला मोदी के संसदीय क्षेत्र के करसड़ा सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का है। इसे चलाने की तारीख तो तय कर ली गई है, लेकिन प्लांट चलाने के लिए पार्टनर चाहिए। ये पार्टनर अभी तक नहीं मिला है।

क्या है मामला?

-गंगा में सीवेज जाने से रोकने के लिए करसड़ा में एसटीपी बनाया जा रहा है।

-इसका काम देखने केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय के प्रमुख सचिव प्रवीण प्रकाश पहुंचे।

-प्रवीण ने कहा कि करसड़ा एसटीपी को 20 जून से शुरू कर देंगे।

-प्लांट को 15 साल चलाने के लिए यूपी सरकार ने पार्टनर की जरूरत बताई है।

-ये पार्टनर अभी तक यूपी और केंद्र सरकारें दिसंबर तक तलाशेंगी।

और क्या बोले प्रमुख सचिव?

-रमना में पड़े ढाई लाख टन कूड़े की कैपिंग कराई जाएगी।

-बाद में यहां कूड़ा डलवाना बंद करा दिया जाएगा।

-करसड़ा में रमना का कूड़ा लाकर डंप किया जाएगा।

-कूड़े से खाद और आरडीएफ में बदलने की योजना।

-आसपास के शहरों में कूड़े की प्रोसेसिंग शुरू कराई गई है।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story