×

Noida News: धंस रही सड़क, अंडरपास निर्माण कंपनी की बड़ी लापरवाही, प्राधिकरण ने रोका काम

Noida News Today: शीट पाइल लंबे संरचनात्मक खंड होते हैं। जिनमें एक लंबवत इंटरलॉकिंग सिस्टम होता है जो एक सतत दीवार बनाता है।

Sarita Jain
Updated on: 25 Nov 2022 5:57 AM GMT
Noida Road sinking
X

धंस रही सड़क (photo: social media )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Noida News: नोएडा ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर निर्माणाधीन अंडरपास का काम तकनीकी कारणों से रोक दिया गया है। पुश बैक तकनीकी के जरिये मिट्टी हटाने से पहले शीट पाइल लगानी होती है, लेकिन निर्माण कंपनी की ओर से बिना शीट पाइल के काम किया जा रहा था। इस कारण सड़क का ऊपरी हिस्सा धंस रहा था। ऐसे में वर्क सर्किल अधिकारी ने एक्सप्रेस-वे के अंडरपास में पुशबैक का काम रूकवा दिया है।

दरअसल शीट पाइल लंबे संरचनात्मक खंड होते हैं। जिनमें एक लंबवत इंटरलॉकिंग सिस्टम होता है जो एक सतत दीवार बनाता है । दीवारों का उपयोग अक्सर मिट्टी या पानी को बनाए रखने के लिए किया जाता है। शीट पाइल सेक्शन की प्रदर्शन करने की क्षमता उसकी ज्यामिति और उस मिट्टी पर निर्भर करती है जिसमें इसे चलाया जाता है। बगैर इसके पुश बैक करने से एक्सप्रेस वे सड़क धंस जा रही है।

पुशबैक एक ऐसी तकनीक है जिसमें एक्सप्रेस वे को बिना बंद किए सड़क के नीचे मिट्‌टी को हटाकर अंडरपास बनाया जाता है। इस तकनीक का प्रयोग रेलवे सबसे ज्यादा करता है। क्योंकि वहां छोटी-छोटी पुलिया का निर्माण करना होता है। जिसे जल्द पूरा कर लिया जाता है। यहां एक्सप्रेस के नीचे अंडरपास बनाया जा रहा है। ऐसे में बिना शीट पाइल के काम नहीं शुरू किया जा सकता।

80 लाख रुपए की शीट पाइल का होना है काम

अंडरपास के निर्माण पर करीब 44 करोड़ रुपये का का खर्चा आ रहा है। ऐसे में एक अंडरपास पर 80 लाख रुपये की शीट पाइल लगाकर काम किया जाना है, लेकिन निर्माण कंपनी सिर्फ एक तरफ 20 लाख रुपये की शीट पाइल लगाकर काम कर रही थी। जिससे खतरा बना हुआ था। निरीक्षण के बाद प्राधिकरण ने सुरक्षा का हवाला देते हुए पुशबैक का काम रोक दिया है। हालांकि बाकी अंडरपास का काम किया जा रहा है।

जनवरी में पूरा होगा अंडरपास

इससे जो अंडरपास दिसंबर तक पूरा होना था उसे वह अब जनवरी के अंत में जाकार पूरा होगा। प्राधिकरण ने बताया कि एक्सप्रेस-वे के चैनेज 10.300 किमी पर एडवंट टावर के समीप इस अंडरपास का काम 82 प्रतिशत काम पूरा कर लिया गया है। दोनों ओर के एप्रोच रोड और रैम्प का 85 प्रतिशत पूर्ण कर लिया गया है।

इन सेक्टर वासियों को मिलेगा लाभ

इससे सेक्टर- 135, 136, 137, 141, 142, 167 व 168 के अलावा गांव गढ़ी शहदरा, वाजीदपुर, मंगरौली, छपरौली आदि के ग्राम वासियों को भी आवागमन में काफी सुविधा होगी वहीं, एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ स्थित सेक्टरों को बेहतर कनेक्टिविटी प्राप्त होगी। अंडरपास की लंबाई 630 मीटर है यह 4 लेन का है।

Monika

Monika

Next Story