Twin Tower Demolition: ट्विन टावर को गिराने से पहले आवारा पशुओं को किया जा रहा रेस्क्यू, जानें क्या है इंतजाम

Twin Tower Demolition: टॉवर के आसपास रहने वाले आवारा पशुओं को भी रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है।

Krishna Chaudhary
Published on: 28 Aug 2022 4:53 AM GMT
noida supertech twin Tower Demolition
X

ट्विन टावर (photo: social media )

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
Click the Play button to listen to article

Twin Tower Demolition: नोएडा स्थित सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने का काउंटडाउन शुरू हो चुका है। आज यानी रविवार 28 अगस्त को दोपहर ढ़ाई बजे टॉवर्स को जमींदोज कर दिया जाएगा। इसे लेकर लगभग सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। हाईटेक मशीनों के जरिए टॉवर्स की निगरानी की जा रही है। वहीं टॉवर के आसपास रहने वाले आवारा पशुओं को भी रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, टॉवर के आसपास रहने वाले 25-30 लावारिस कुत्तों को पकड़कर सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है।

आवारा कुत्तों को रेस्क्यू करने के लिए पिछले दो दिनों से सरकारी, गैर सरकारी संस्थाओं की गाड़ियां कुत्तों को पकड़ती रहीं। जानकारी के मुताबिक, पकड़े गए आवारा जानवरों को एनजीओ के शेल्टर होम में रखा जाएगा। वहीं ट्विन टॉवर के डेमोलिशन के बाद उन्हें इसी जगह वापस लाकर छोड़ दिया जाएगा। ट्विन टॉवर को ध्वस्त करने के दौरान उससे निकलने वाले धूल और मलबे से इनको किसी प्रकार का नुकसान न हो, इसलिए सोसाइटी के अंदर और सड़कों के बाहर घूमने वाले इन आवारा कुत्तों को पकड़कर सुरक्षित स्थान पर भेजा जा रहा है।

ट्विन टॉवर्स का आखिरी दिन

नोएडा के सेक्टर 93ए में स्थित सुपरटेक ट्विन टॉवर्स आज दोपहर तक इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाएगा। कुतुब मीनार से भी ऊंची यह इमारत धमाके के साथ ताश के पत्तों की तरह बिखर जायेगा। 100 मीटर से ऊंचे इस टॉवर को मात्र 12 सेकेंड में 3700 किलो विस्फोटक की मदद से मिट्टी में मिला दिया जाएगा। सुबह 7 बजे सोसाइटी में रहने वाले करीब 5 हजार लोगों को एक्सप्लोजन जोन से हटा दिया गया। ट्विन टॉवर के पास अब किसी को जाने की इजाजत नहीं है। एक्सप्लोजन जोन में 560 पुलिसकर्मी, रिजर्व फोर्स के 100 लोग, 4 क्विक रिस्पांस टीम समेत एनडीआरएफ की टीम तैनात है।

Monika

Monika

Next Story