×

मॉरीशस के PM समेत तीन हजार प्रवासी भारतीय पहुंचे कुंभ, ये है कार्यक्रम

हालांकि अभी तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने की कोई सूचना नहीं है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 24 Jan 2019 5:27 AM GMT

मॉरीशस के PM समेत तीन हजार प्रवासी भारतीय पहुंचे कुंभ, ये है कार्यक्रम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कुंभ नगर: तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन के समाप्ति के बाद आज प्रवासी भारतीयों को कुंभ मेला क्षेत्र में पहंच चुके हैं। इनके साथ मॉरीशस के प्रधानमंत्री भी प्रयाग पहुंचे है। उनकी अगवानी के लिए माननीय मंत्री श्री सुरेश खन्ना व शहर के गणमान्य व्यक्ति एयरपोर्ट पर उपस्थित रहे। इनके आगमन के मद्देनजर आज संगम क्षेत्र में आम श्रद्धालु स्नान नहीं कर सकेंगे। सुरक्षा की दृष्टि से यह निर्णय प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने लिया है।

मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ प्रयाग के लेटे ​हनुमान मंदिर में दर्शन भी किए। इस दौरान अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी व मिनिसटर सुरेश खन्ना भी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें— पांच दिवसीय जयपुर साहित्य महोत्सव का आज होगा आगाज, शिरकत ​करेंगी मशहूर हस्तियां

यहां रहेगा प्रतिबंध

किलाघाट से लेकर संगम नोज तक के स्नान घाट और अरैल में वीआइपी घाट से लेकर टेंट सिटी तक के घाट प्रतिबंधित रहेंगे। इसके अलावा किला स्थित मूल अक्षयवट, पातालपुरी, सरस्वती कूप और बड़े हनुमान मंदिर में भी आम श्रद्धालु दर्शन नहीं कर सकेंगे।

मॉरीशस के पीएम समेत तीन हजार प्रवासी भारतीय जायेंगे कुंभ

कुंभ मेलाधिकारी विजय किरन आनंद ने बताया कि मॉरिशस के प्रधानमंत्री समेत लगभग तीन हजार प्रवासी भारतीय 24 जनवरी को कुंभ मेला क्षेत्र में आएंगे। उन्हें वाराणसी से वाल्वो बसों से यहां लाया जाएगा। टेंट सिटी में उन्हें ठहराया जाएगा। उन्हें मेला क्षेत्र में पांच स्थानों संगम नोज, अक्षयवट, बड़े हनुमान मंदिर, फ्लैग क्षेत्र व संस्कृति ग्राम का भ्रमण कराया जाएगा।

ये भी पढ़ें— डिफेंस सेक्शन के निजीकरण के खिलाफ आयुध फैक्ट्रियों के लाखों कर्मी हड़ताल पर

एडीएम (कुंभ) दिलीप कुमार त्रिगुणायत ने बताया कि मेला क्षेत्र के सेक्टर पांच, छह एवं सात तथा झूंसी क्षेत्र में स्थित गंगा नदी के सभी स्नान घाट आमजन एवं श्रद्धालुओं के आवागमन एवं स्नान के लिए खुले रहेंगे। संगम के अलावा इन घाटों पर आम जन स्नान और पूजन कर सकेंगे।

आतिथ्य के व्यापक प्रबंध

प्रवासी भारतीयों के आतिथ्य के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं। उन्हें क्रूज से गंगा व यमुना का सैर कराया जाएगा। टेंट सिटी में उनका नाश्ता होगा तथा किला घाट मार्ग पर उनका लंच होगा। टेंट सिटी में उन्हें डिनर कराया जाएगा। उनके भोजन में उत्तर से लेकर दक्षिण भारत के स्वादिष्ट व्यंजन शामिल होंगे। हालांकि अभी तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आने की कोई सूचना नहीं है।

ये भी पढ़ें— सवा साल में यमुना का पानी होगा पीने योग्य, दिल्ली से आगरा तक चलेगी वोट: गडकरी

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story