Top

CMO पर 50 करोड़ के घोटाले का आरोप, HC ने कहा- पहले से हो रही है CBI जांच, नहीं कर सकता हस्तक्षेप

aman

amanBy aman

Published on 23 Jun 2017 11:23 AM GMT

CMO पर 50 करोड़ के घोटाले का आरोप, HC ने कहा- पहले से हो रही है CBI जांच, नहीं कर सकता हस्तक्षेप
X
विज्ञान व तकनीकी विभाग में फंड के दुरूपयोग पर यूपी सरकार से जवाब तलब
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

इलाहाबाद: हाईकोर्ट ने बलिया के सीएमओ रहे पीके सिंह, लिपिक दयाशंकर वर्मा और विवेक कुमार श्रीवास्तव के खिलाफ नेशनल रूरल हेल्थ मिशन (एनआरएचएम) में 50 करोड़ का घोटाला करने की जांच की मांग के लिए दाखिल याचिका पर हस्तक्षेप से इंकार कर दिया है। साथ ही कोर्ट ने कहा है कि हाईकोर्ट ने पहले ही घोटाले की जांच सीबीआई को सौंप रखी है। जांच जारी है। कई के खिलाफ चार्जशीट दाखिल हो चुकी है। ऐसे में अलग से जांच का आदेश जारी करने की आवश्यकता नहीं है।

इन लोगों पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत आवंटित धन के घोटाले का आरोप है। याचिका में आरोप लगाया गया है कि बिना विज्ञापन व पद के 100 कर्मियों को रखा गया और फर्जी नियुक्ति के जरिए घोटाला किया गया।

याचिका का प्रतिवाद राज्य सरकार के अपर मुख्य स्थायी अधिवक्ता ने किया। यह आदेश न्यायमूर्ति अरुण टंडन तथा न्यायमूर्ति अशोक कुमार की खंड पीठ ने धर्मेश्वर उपाध्याय की याचिका को निस्तारित करते हुए दिया है।

aman

aman

अमन कुमार, सात सालों से पत्रकारिता कर रहे हैं। New Delhi Ymca में जर्नलिज्म की पढ़ाई के दौरान ही ये 'कृषि जागरण' पत्रिका से जुड़े। इस दौरान इनके कई लेख राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय और कृषि से जुड़े मुद्दों पर छप चुके हैं। बाद में ये आकाशवाणी दिल्ली से जुड़े। इस दौरान ये फीचर यूनिट का हिस्सा बने और कई रेडियो फीचर पर टीम वर्क किया। फिर इन्होंने नई पारी की शुरुआत 'इंडिया न्यूज़' ग्रुप से की। यहां इन्होंने दैनिक समाचार पत्र 'आज समाज' के लिए हरियाणा, दिल्ली और जनरल डेस्क पर काम किया। इस दौरान इनके कई व्यंग्यात्मक लेख संपादकीय पन्ने पर छपते रहे। करीब दो सालों से वेब पोर्टल से जुड़े हैं।

Next Story