×

Nupur Sharma: यूपी में जुमे की नमाज पर अलर्ट, PAC की 159 कंपनी तैनात, सोशल मीडिया पर पैनी नजर

Nupur Sharma Controversy: उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद आज जुमे की नमाज पर पूरे उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है. पुलिस प्रशासन लगातार फ्लैग मार्च और ड्रोन कैमरे से सेंसेटिव जगहों की निगरानी कर रहा है.

Rahul Singh Rajpoot
Updated on: 1 July 2022 5:05 AM GMT
गस्त के दौरान पीएसी के जवान
X

गस्त के दौरान पीएसी के जवान (फोटों साभार सोशल मीडिया)

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Nupur Sharma Controversy: उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के बाद आज जुमे की नमाज पर पूरे उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है. पुलिस प्रशासन लगातार फ्लैग मार्च और ड्रोन कैमरे से सेंसेटिव जगहों की निगरानी कर रहा है. पूरे प्रदेश में पीएसी की 159 कंपनियां तैनात की गई है. सरकार ने किसी भी तरह के जुलूस, विरोध प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी है. वहीं सोशल मीडिया पर विवादित पोस्ट करने पर कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। यूपी के मेरठ, बरेली, सहारनपुर, मथुरा, आगरा, प्रयागराज, लखनऊ सहित तमाम जिलों में चौकसी बरती जा रही है. इसके साथ ही पुलिस, पीएसी के जवान पैदल गस्त कर भी सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहे हैं।

बता दें सरकार ने सूबे में शाँति व्यवस्था बनाए रखने के लिए किसी भी तरह का विरोध प्रदर्शन, आंदोलन पर पाबंदी लगा दी है. प्रदेश में दो जुम्मे की नमाज पर भड़की हिंसा के बाद अब कन्हैया लाल की हत्या के मामले में माहौल ना ख़राब हो इसको लेकर आज जुमे की नमाज पर चौकसी बढ़ा दी गई है. सरकार के निर्देश पर पुलिस के साथ ही 159 पीएसी की कंपनियों को भी तैनात किया गया है। प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा है कि सभी धर्मगुरुओं से बातचीत कर अराजकतत्वों से निपटने के पूरे बंदोबस्त किए गए हैं. प्रदेश की कानून व्यवस्था के साथ कोई खिलवाड़ करेगा तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी. इसके अलावा जिला फोर्स को भी ड्यूटी पर रहने के निर्देश दिए गए हैं. सोशल मीडिया पर विशेष निगरानी की जा रही है, अफवाह फैलाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है. कानून व्यवस्था और शांति व्यवस्था में जो भी बाधा डालेगा उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

आपको बता दें बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान को लेकर उत्तर प्रदेश में पहले तीन उसके बाद 10 जून को भारी हिंसा हुई थी. कई जिलों में हिंसा और आगजनी की घटना के बाद अब तक 400 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. उसके बाद उदयपुर में इसी मामले को लेकर कन्हैयालाल की हत्या के बाद अब पूरे देश में विरोध प्रदर्शन हो रहा है. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सूबे शांति बनाए रखने के लिए किसी भी प्रकार के धार्मिक, राजनीतिक आंदोलन पर प्रतिबंध लगा दिया है. बिना अनुमति के किसी भी प्रकार के आयोजन नहीं किया जा सकते हैं।

Prashant Dixit

Prashant Dixit

Next Story