Top

उलझा रिश्ता : मौसा को आई हेट यू लिख फांसी पर झूल गई नर्सिंग स्टूडेंट

By

Published on 2 Aug 2016 5:25 PM GMT

उलझा रिश्ता : मौसा को आई हेट यू लिख फांसी पर झूल गई नर्सिंग स्टूडेंट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

आगरा: 'तुम क्या सोचते हो मैं मर नहीं सकती, तुम प्रेम से रहो मैं जा रही हूं।' ये पंक्तियां नर्सिंग की एक स्टूडेंट ने अपनी सुसाइड नोट में लिखा। बताया जाता है कि नर्सिंग की इस स्टूडेंट को प्रेम में फंसाकर उसका मौसा ही शोषण कर रहा था। इसी से तंग आकर लड़की ने आत्महत्या कर ली। आत्महत्या से पहले पीड़िता ने जब मौसा को आत्महत्या की जानकारी दी, तो वह भागता हुआ आया। लेकिन तब तक देर हो चुकी थी।

मौसा को दी थी देख-रख की जिम्मेदारी

मूलतः फैजाबाद की अलका सिंह आगरा के जीजी नर्सिंग स्कूल में पढ़ाई कर रही थी। अलका ने आगरा के कैलाशपुरी स्थित लताकुंज में कमरा किराए पर ले रखा था। अलका का मौसा देवेश दीक्षित इसी शहर में एक केबल नेटवर्क कंपनी में काम करता है। अलका की पढ़ाई के दौरान परिजनों ने देवेश को लड़की की देख-रेख की जिम्मेदारी दे रखी थी।

मौसी ने पिलाई थी डांट

आरोप है कि देख-रेख के बहाने देवेश, अलका के बेहद करीब आ गया था। उसे प्रेमजाल में फंसाकर उसका यौन शोषण भी किया। जब इसकी जानकारी देवेश की पत्नी संगीता को हुई तो उसने अलका को बहुत डांटा।

देवेश बनाने लगा था दूरी

इस वाकये के बाद देवेश धीरे-धीरे अलका से दूरी बनाने लगा। अब आये दिन उसका अलका से झगड़ा होने लगा। सोमवार रात भी अलका की देवेश से झड़प हुई थी। उस वक्त अलका ने देवेश को आत्महत्या की धमकी दी थी। उसी के बाद अलका ने फांसी लगा ली।

आरोपी मोबाईल, चेन लेकर फरार

पीड़ित के मकान मालिक ने हालात को देखते हुए मकान का गेट बंद करवा दिया। आरोपी सबूत मिटाने के लिए छात्रा का मोबाईल, चेन आदि लेकर मकान की दीवार फांदकर फरार हो गया। मृतका के परिजनों ने थाने में यौन शोषण और हत्या की तहरीर दी है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

मृतका ने मौसा को बताया था भाई

मकान मालिक की बेटी मधु जो अलका की सहेली भी थी ने बताया की दोनों के बीच पहले संबंध थे। कुछ समय से देवेश और अलका में अनबन चल रही थी। मधु ने बताया, मुझे पता ही नहीं था कि देवेश उसका मौसा है। अलका ने उसे चचेरा भाई बताकर मिलवाया था।'

मकान मालिक की बेटी ने खोले राज

मधु ने बताया, 'सोमवार रात देवेश का फोन आया। उसने मुझसे अलका से झगड़ा होने और आत्महत्या की धमकी देने की बात बताई और कमरे में जाकर देखने को कहा।' जब मधु कमरे में पहुंची तब तक अलका फांसी लगा चुकी थी। इसी बीच देवेश भी वहां पहुंच गया। मकान मालिक ने कमरे का दरवाजा बंद कर पुलिस को फोन कर दिया। इस दौरान देवेश कमरे की तलाशी लेने लगा। और ऊपर के कमरे से बाहर आकर दीवार फांदकर भाग गया।

पुलिस को मिली नोट और डायरी

पुलिस ने रात में ही शव को कब्जे में लेकर पंचनामा के लिए भेज दिया। पुलिस को मौके से सुसाइड नोट और अलका की डायरी मिली है। सुसाइड नोट में अलका ने सिर्फ प्रेमी का जिक्र ही किया है। उसकी डायरी में देवेश और उसके संबंधों का कच्चा चिट्ठा है। मृतका के पिता जगजीत ने थाना हरीपर्वत में देवेश पर हत्या, यौन शोषण और लूट की तहरीर दी है।

मां को बताई सच्चाई

मृतका के भाई अमित ने बताया हमें कभी देवेश पर शक नहीं था और न कभी अलका इस बारे में कुछ बताया। कल रात अचानक उसने मां को फोन कर मौसा देवेश की हकीकत बताई। शर्म से बचने के लिए उसने आत्महत्या का रास्ता अपनाया।

क्या कहा एसपी सिटी ने ?

इस पूरी घटना पर एसपी सिटी सुशील घुले ने बताया कि परिजनों की तहरीर पर देवेश के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। गिरफ्तारी की कोशिश की जा रही है। सुसाइड नोट और घटनास्थल के प्रथम निरीक्षण पर मामला आत्महत्या का नजर आ रहा है। आगे की जानकारी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद दी जाएगी।

Next Story