×

एक जनपद एक उत्पाद को विश्व बाजार में मिलेगी नई पहचान: क्षिप्रा शुक्ला

उ.प्र. डिजायन संस्थान की अध्यक्ष सुश्री क्षिप्रा शुक्ला ने गुरूवार को कुम्भ मेला क्षेत्र में लगी ”एक जनपद एक उत्पाद“ प्रदर्शनी का भ्रमण किया। उन्होंने प्रदर्शनी में सभी 75 जनपदों के लगाये गये स्टालों को देखा और कहा कि लोगों की रूचि के अनुसार उत्पादों को और अधिक आकर्षक बनाये जाने के उद्देय से उ.प्र. डिजायन संस्थान द्वारा शीघ्र ही कुछ जनपदों के उत्पादों का चयन कर कार्य प्रारम्भ किया जायेगा।

Anoop Ojha

Anoop OjhaBy Anoop Ojha

Published on 31 Jan 2019 4:23 PM GMT

एक जनपद एक उत्पाद को विश्व बाजार में मिलेगी नई पहचान: क्षिप्रा शुक्ला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

आशीष पाण्डेय

कुंभ नगर: उ.प्र. डिजायन संस्थान की अध्यक्ष क्षिप्रा शुक्ला ने गुरूवार को कुम्भ मेला क्षेत्र में लगी ”एक जनपद एक उत्पाद“ प्रदर्शनी का भ्रमण किया। उन्होंने प्रदर्शनी में सभी 75 जनपदों के लगाये गये स्टालों को देखा और कहा कि लोगों की रूचि के अनुसार उत्पादों को और अधिक आकर्षक बनाये जाने के उद्देय से उ.प्र. डिजायन संस्थान द्वारा शीघ्र ही कुछ जनपदों के उत्पादों का चयन कर कार्य प्रारम्भ किया जायेगा। डिजायन संस्थान मुख्यतः रंग एवं पैटर्न को और अधिक प्रभावी बनाने की दिशा में कार्य करेगा। इसके साथ ही बेहतर डिजायनिंग भी कराई जाएगी। फिलहाल इसमें लेदर उत्पादों, कार्पेट, जरी जरदौजी के साथ प्रयागराज के मूँज उत्पाद एवं अलीगढ़ के ताले आदि उत्पादों को शामिल किया गया है।

यह भी पढ़ें...... दिव्य कुंभ में गंगा की अविलता के लिए की जा रही है मानीटरिंग: धर्मपाल सिंह

उन्होंने बताया कि ”एक जनपद एक उत्पाद“ योजना का शुभारम्भ 24 जनवरी 2018 को किया गया था। जिसका उद्देश्य जनपदों के उत्पादों को सहायता देकर उन्हे पहचान देना था। जिसके लिए अनेक प्रदर्शनी, डाक्यूमेन्ट्री फिल्म आदि के द्वारा व्यापक प्रचार-प्रसार कराया गया। उन्होंने बताया कि एक जनपद एक उत्पाद प्रदर्शनी में आ रही लोगों की भारी भीड़ और उत्पादों की बिक्री को देखकर यह स्पष्ट है कि लोग इसे काफी पसन्द कर रहे हैं। फिर भी इसमें उत्तरोत्तर सुधार की पर्याप्त संभावनाये है। जिससे कारीगरों और उद्यमियों दोनों को अधिक लाभ होने के साथ उच्च गुणवत्ता के उत्पाद जनता तक पहुंच सके और यह उत्पाद भारत ही नहीं अपितु विश्व बाजार पर भी अपना प्रभाव स्थापित कर सके।

क्षिप्रा शुक्ला ने बताया कि उ.प्र. डिजायन संख्या इन उत्पादों को और अधिक आकर्षक बनाने के लिए निरन्तर प्रयासरत है, और रंगों पर डिजायन के बेहतर समन्वय के लिए काम किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें......कुम्भ मेला स्नान घाटों पर फोटो, वीडियोग्राफी पर प्रतिबंध का पालन न करने पर मेला प्रशासन से जानकारी तलब

अलीगढ़ के तालों की विशेषता बताते हुये उन्होने कहा कि इनके बेहतर डिजायन पैटर्न तैयार करा कर इन्हें और अधिक आकर्षक बनाया जाएगा। इसी प्रकार कार्पेट, जरी जरदौजी, साड़ियों आदि के लिए बेहतर कलर पैटर्न तैयार कराये जायेंगे। इतना ही नहीं प्रयागराज की मूंज के उत्पादों के लिए विशेष कलर पैटर्न भी तैयार कराये जा रहे है। जो इन उत्पादों को विश्व बाजार में नई पहचान देंगे। भ्रमण के दौरान संयुक्त आयुक्त उद्योग प्रयागराज मण्डल सुधांशु तिवारी आदि मौजूद रहे।

Anoop Ojha

Anoop Ojha

Excellent communication and writing skills on various topics. Presently working as Sub-editor at newstrack.com. Ability to work in team and as well as individual.

Next Story