Top

UP: सचिवालय और HOD ऑफिस के अफसर समय से नहीं पहुंचे दफ्तर तो पड़ेगा भारी

By

Published on 10 July 2016 10:01 AM GMT

UP: सचिवालय और HOD ऑफिस के अफसर समय से नहीं पहुंचे दफ्तर तो पड़ेगा भारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूपी के सचिवालय और विभागाध्यक्ष (HOD) ऑफिसों के अधिकारी अब समय की कसौटी पर कसे जाएंगे। समय से ऑफिस में मौजूद न होना और लंच टाइम में घर जाना उन्हें भारी पड़ सकता है। चूंकि यूपी सेक्रेट्रिएट में 1995 और विभागाध्यक्ष कार्यालयों में साल 2004 से पांच दिवसीय कार्य सप्ताह लागू है। कार्यालय की टाइमिंग सुबह 9:30 से शाम 6:00 बजे तक है।

लेकिन इसके उलट ज्यादातर ऑफिसों में यह शिकायत बनी रहती है कि वहां कर्मचारी समय से नहीं आते। इसको देखते हुए इन कर्मचारियों को समय की कसौटी पर कसने की तैयारी की जा रही है।

विभागाध्यक्ष करेंगे औचक निरीक्षण

-सरकारी सूत्रों का कहना है कि इसको लेकर प्रशासनिक सख्ती बरतने की तैयारी की जा रही है।

-सभी विभागाध्यक्षों से अपने ऑफिस का औचक निरीक्षण करने को कहा गया है जिससे ऑफिसों में काम का माहौल बने।

-अफसरों को सुबह जल्दी ऑफिस पहुंचकर कर्मचारियों का अटेंडेंस चेक करना होगा।

-साथ ही लंच टाइम में दफ्तर से गायब आधिकरियों और कर्मचारियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें ... सिंघल ने कहा- 3 दिन से अधिक रोकी FILE तो होगी अधिकारियों पर कार्रवाई

शिवपाल भी कर चुके हैं इस तरह की सख्ती

-इसके पहले जुलाई 2014 में लोक निर्माण और सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव भी कह चुके हैं कि उनके विभागों से जुड़े अधिकारी ब्रेकफास्ट और लंच ऑफिस में ही करें।

-अधिकारी और कर्मचारी 10 के बजाए 9 बजे ही ऑफिस पहुंचें।

-इसको लेकर उन्होंने लंच टाइम में ऑफिसों का औचक निरीक्षण भी किया था।

-लोगों का कहना है कि इसके बाद कुछ समय तक तो दफ्तरों में सब ठीक चला पर इसके बाद हालात जस के तस हो गएं।

यह भी पढ़ें ... GOOD NEWS : एक कार्ड जो दिव्यांगों के लिए होगा वरदान, मिलेंगे ये फायदे

सचिवालय में पांच दिवसीय कार्य सप्ताह में यह है टाइमिंग

-तत्कालीन मुख्य सचिव ब्रजेंद्र सहाय ने 9 मार्च 1995 को यह शासनादेश जारी किया था।

-इसी तरह 1 नवंबर 2004 से विभागाध्यक्ष कार्यालयों में भी पांच दिवसीय कार्य दिवस है।

-प्रशासन में स्वस्थ कार्य संस्कृति के विकास के लिए यह निर्णय लिया गया था।

-पांच दिवसीय कार्य सप्ताह में हर शनिवार और रविवार को अवकाश घोषित किया गया।

-हर शनिवार को अवकाश से कार्यालय समय की कमी को पूरा करने के लिए नई टाइमिंग बनी।

-ऑफिसों की टाइमिंग सुबह 9:30 से शाम 6:00 बजे तक की गई।

-वहीं लंच टाइम दोपहर 1:00 से 1:30 बजे तक तय किया गया।

Next Story