Top

शाबाश खाकी: बेटों ने ठुकराया तो इस मां को पुलिस ने थाने में दिया आसरा

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 8 April 2016 5:36 PM GMT

शाबाश खाकी: बेटों ने ठुकराया तो इस मां को पुलिस ने थाने में दिया आसरा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ved prakash singh Ved Prakash Singh

लखनऊ/औरैया : अपने बेटों से ठुकराई गई एक बूढ़ी महिला को खाकी ने सहारा दिया है। पुलिस ने महिला को न सिर्फ आशियाना दिया बल्कि उसकी सेवा भी कर रही है।

थाने को बनाया अपना आशियाना

-औरैया जिले की एक बूढ़ी महिला दुलारी (बदला हुआ नाम) बिधुना थाने पहुंची।

-दुलारी ने पुलिस को सारी बात बताई।

-पुलिस ने दुलारी को न्याय दिलवाने का भरोसा भी दिया।

-लिहाजा उसने थाने में ही अपना आशियाना बना लिया।

-दुलारी लगभग 6 महीने से थानें में ही रह रही है।

पुलिस रखती है पूरा ख्याल

-थाने में पुलिस वाले दुलारी का पूरा ख्याल रखते हैं।

-उसके खाने और पहनने का प्रबंध करते हैं।

-दुलारी ने भी थानें के लोगों को अपना परिवार बना लिया है।

यह भी पढ़ें ... यूपी पुलिस अधिकारियों को सैल्यूट नहीं, पैर छू ले रही है आशीर्वाद

क्या कहते हैं थानाध्यक्ष

-बिधुना थाने के थानाध्यक्ष विक्रमाजीत सिंह सचान ने बताया कि मेरे आने के बहुत पहले से ही यह महिला थाने में परिवार की तरह रहती है।

-वह पुरवा दीक्षित की रहने वाली है, लेकिन अब अपने घर नही जाना चाहती है।

-ना ही कई महीनों से कोई उससे मिलने आया है।

संवेदनशील पुलिस

-आईजी नवनीत सिकेरा का कहना है कि इस तरह की और खबरें सामने आनी चाहिए जो पुलिस कि संवेदनशीलता को प्रदर्शित करती हो।

-औरैया के सीओ बालकराम ने newztrack को बताया की यह सिर्फ मानव प्रेम है।

-उन्होंने कहा कि हम न सिर्फ पुलिस वाले हैं बल्कि एक ह्यूमन बीईंग हैं।

-पुलिस ने अपने बच्चों से ठुकराई गई एक मां को सहारा मानवता के खातिर दिया है।

Newstrack

Newstrack

Next Story