Top

बिसरख धाम विवाद: पंचायत ने कहा- रावण से पहले स्थापित होगी राम प्रतिमा

कुछ हिदू संगठनों से जुड़े साधु संत इसका विरोध कर रहे हैं। मंगलवार दोपहर बाद दर्जनों की संख्या में लाठी-डंडे लिये पहुंचे लोगों ने रावण की मूर्ति को क्षत-विक्षत कर दिया। इस घटना के बाद तनाव फैल गया। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात करना पड़ा। प्रतिमा खंडित हो जाने के बाद रावण धाम के आचार्य अशोकानंद ने कहा कि अब 11 अगस्त को मूर्ति का प्राण प्रतिष्ठान नहीं होगा।

zafar

zafarBy zafar

Published on 10 Aug 2016 2:59 PM GMT

बिसरख धाम विवाद: पंचायत ने कहा- रावण से पहले स्थापित होगी राम प्रतिमा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा: बिसरख धाम में अब लंकेश रावण की मूर्ति से पहले राम की मूर्ति लगेगी। गांव में हुई एक पंचायत में सर्व सम्मति से यह फैसला हुआ है। इससे पहले बिसरख धाम के रावण मंदिर में कुछ संगठनों ने रावण की प्रतिमा तोड़ दी थी। मंगलवार को जिन 3० लोगों के खिलाफ बवाल और तोड़फोड़ की शिकायत दी गई थी उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

स्थापित होगी रावण प्रतिमा

-बिसरख गांव में हुई पंचायत में सर्वसमति से तय किया गया है कि ऋषि विश्रवा की तपोभूमि और रावण की जन्मस्थली बिसरख में रावण की प्रतिमा स्थापित की जानी चाहिए।

-लेकिन कुछ साधु संतों के विरोध के चलते रावण की प्रतिमा से पहले अब गुरुवार को राम, राधा-कृष्ण और मोहन बाबा की मूर्ति स्थापित होगी।

-इससे पहले गुरुवार 11 अगस्त को बिसरख स्थित रावण मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना के साथ रावण की मूर्ति स्थापित करने का कार्यक्रम था।

-कार्यक्रम के अनुसार मंदिर में रावण प्रतिमा के साथ राम दरबार भी स्थापित किया जा रहा था।

ravan statue-ram statue-ravan mandir

संतों का विरोध

-कुछ हिदू संगठनों से जुड़े साधु संत इसका विरोध कर रहे हैं। मंगलवार दोपहर बाद दर्जनों की संख्या में लाठी-डंडे लिये पहुंचे लोगों ने रावण की मूर्ति को क्षत-विक्षत कर दिया।

-इस घटना के बाद तनाव फैल गया। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात करना पड़ा।

-प्रतिमा खंडित हो जाने के बाद रावण धाम के आचार्य अशोकानंद ने कहा कि अब 11 अगस्त को मूर्ति का प्राण प्रतिष्ठान नहीं होगा।

थाने में मामला

-बिसरख धाम के आचार्य अशोकानंद ने मंगलवार को श्री लंकेश्वर रावण मंदिर बिसरख धाम में तोड़फोड़ करने वालों के खिलाफ थाना बिसरख में शिकायत की है, जिस पर कार्रवाई की जा रही है।

-शिकायत में गौरक्षा हिंदू दल के राष्ट्रीय संयोजक वेद नागर, दूधेश्वर मठ में जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय मंत्री श्री महंत नारायण गिरि महाराज, अंतरराष्ट्रीय हिदू सेना के अध्यक्ष कृष्णा गिरि, कालका मंदिर दिल्ली के प्रमुख सुरेंद्र नाथ, सतीश नागर, हरिश्चंद नागर सहित 3० लोगों के खिलाफ बवाल और तोड़फोड़ सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

zafar

zafar

Next Story