Top

पंचायत चुनाव: झांसी में 45 ने रण छोड़ा, 319 डटे मैदान में

पंचायत चुनाव में झांसी जिले में 45 प्रत्याशियों ने नामांकन वापस लिए 319 मैदान में डटे हैं।

BK Kushwaha

BK KushwahaReport By BK KushwahaShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 7 April 2021 5:09 PM GMT

पंचायत चुनाव: झांसी में 45 ने रण छोड़ा, 319 डटे मैदान में
X

Jhansi Panchayat Election 2021: (Photo-Social Media) 

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

झाँसी। जिला पंचायत सदस्य पद के लिए नामांकन पत्रों की जांच की गई। जांच में तीन नामांकन निरस्त कर दिए गए। नामांकन वापस लेने का सिलसिला प्रात: 8 बजे से शुरू होकर 3:30 बजे तक चला। इस दौरान 45 प्रत्याशियों ने अपने नाम चुनावी मैदान में से वापस ले लिए।

319 प्रत्याशी चुनावी मैदान में

चुनावी समर में 319 प्रत्याशी चुनावी मैदान में कूद गए हैं। नामांकन पत्रों को वापस लेने के बाद जिला पंचायत सदस्य के लिए चुनाव चिन्ह आवंटन की प्रक्रिया शुरू की गई। चुनाव चिन्ह आवंटन के लिए प्रत्याशियों को लाइन लगाकर खड़ा किया गया। वार्ड के हिसाब से एवं अल्फाबेट के हिसाब से प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह आवंटित किए गए।

प्रत्याशियों की लंबी लाईन

राजनीतिक दलों ने भले ही अपने प्रत्याशियों को मैदान में उतार दिया हो लेकिन उन्हें किसी पार्टी का अधिकृत चुनाव चिन्ह नहीं दिया गया है। यह चुनाव चिन्ह ने आयोग द्वारा निर्धारित 50 से ज्यादा चुनाव चिन्ह निर्धारित किए गए हैं। चुनाव चिन्ह आवंटन के लिए प्रत्याशियों की लंबी लाईन लगी रही। नामांकन आवंटन करने का सिलसिला रात्रि तक चलता रहा। जहां गत दिवस कलेक्ट्रेरट में एक तरह से सन्नाटा पसरा राह वहीं आज कलेक्ट्रेरट में नामांकन में वापिस लेने से चुनाव चिन्ह आवंटन तक रात्रि तक चहल पहल रहीं।

ये मिले चुनाव चिन्ह

जिला पंचायत चुनाव में प्रत्याशियों को उनके मन के अनुरूप चुनाव चिन्ह नहीं मिले। कुछ को निराशा मिली तो कुछ फूले नहीं समाये। किसी को उगता सूर्य, आरी, क्रेन, तीर-कमान, गमला, फसल उगाता किसान, नारियल, कार, बायलन, तराजू, कलम दवात, गले का हार, खजूर का पेड़ समेत 50 से ज्यादा चिन्त वितरित किये गये।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story