Top

प्यार की सजा, भरी पंचायत में प्रेमी को पांच चप्पल, 40 हजार रुपए जुर्माना

By

Published on 8 Aug 2016 6:13 AM GMT

प्यार की सजा, भरी पंचायत में प्रेमी को पांच चप्पल, 40 हजार रुपए जुर्माना
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बरेली: प्रेमिका से मिलने आधी रात उसके घर पहुंचे प्रेमी को भरी पंचायत में चप्पल मारने की सजा सुनाई गई। प्रेमी चुप रहा, उसके परिजनों ने भी यह सजा स्वीकार ली और लड़के के चचेरे भाई ने पंचायत के सामने उसे 5 चप्पलें मारी। पंचायत का फरमान यही नहीं रुका, बल्कि आरोपी लड़के को चालीस हजार रुपए जुर्माना भी देने का आदेश दिया। वहीं इस पूरे मामले से पुलिस बेखबर है और कुछ भी बोलने से इंकार कर रही है।

क्‍या है पूरा मामला

-थाना नवाबगंज के बरौर गांव का यह मामला है।

-यहां रहने वाले लड़के की गांव में ही मोबाइल फोन की दुकान है।

-बरौर में ही रहने वाली नाबालिग लड़की अक्सर उसकी दुकान पर रिचार्ज कराने आती थी।

-दोनों के बीच जान पहचान बढ़ी और धीरे धीरे प्रेम हो गया।

-शनिवार की रात युवक अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच गया।

-प्रेमिका बरामदे में थी और परिजन आंगन में सो रहे थे।

-प्रेमी छत के रास्ते से लड़की के पास पहुंच गया और उसकी के पास लेट गया।

-दोनों अचानक सो गए तभी लड़की के परिजनों की नींद खुल गई।

-युवक को वहीं पकड़ लिया और जमकर पीटा, हालांकि अफरातफरी के बीच वह भागने में सफल रहा लेकिन लड़के की चप्पल व मोबाइल वहीं रह गया।

-जिससे लड़के की पहचान हो गई, सुबह लड़की के परिजनों ने मामला पंचों तक पहुंचा दिया।

-आनन-फानन में दोपहर को पंचायत बुलाई गई जिसमें ग्राम पंचायत मुखिया भी मौजूद थे।

-लड़की पक्ष ने अपने आरोप पंचायत के सामने रखे तो लड़के पक्ष ने बचाव में कुछ तर्क पेश किए।

लड़के के चचेरे भाई ने मारी चप्पलें

-दोनों पक्षों को सुनने के बाद पंचों ने लड़के को गांव की मर्यादा के खिलाफ अभद्र आचरण करने का दोषी करार दिया।

-फैसला सुनाया कि युवक को पंचायत प्रतिनिधियों और लोगों के सामने ही पांच चप्पलें मारी जाएं।

-लड़के के चचेरे भाई ने उसे सभी के सामने पांच चप्पलें मारी।

-इतना ही नहीं बतौर जुर्माना 40 हजार रुपए भी लड़की पक्ष को देने की सजा सुनाई।

-लड़के पक्ष ने भी इस सजा को भुगतने की सहमति जताई।

पहले भी हुए हैं ऐसे फैसले

- 25 दिसंबर को बिथरी चैनपुर के गांव सुंदपुर में पंचायत ने प्रेमी के परिवार को गांव छोड़ने का फरमान सुनाया। बाहर से आकर बसे इस परिवार ने गांव की युवती से दो माह पहले ही प्रेम विवाह किया था।

- पिछले सप्ताह नवाबगंज के ही एक गांव में परिजनों ने प्रेमी-प्रेमिका को साथ में देखकर प्रेमी को घर में बंद कर लिया। सुबह गांव में पंचायत बैठी और सबके सामने युवक को प्रेमिका से पांच चप्पलें मारने का फरमान सुनाया गया।

Next Story