×

ऐसा पार्क जहां पौधे हैं खास, वनस्पति विज्ञान की ओपन प्रयोगशाला

Rishi

RishiBy Rishi

Published on 22 Aug 2018 3:47 PM GMT

ऐसा पार्क जहां पौधे हैं खास, वनस्पति विज्ञान की ओपन प्रयोगशाला
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नोएडा : सेक्टर-91 में प्राधिकरण द्वारा औषधी पार्क का निर्माण किया जा रहा है। इस पार्क को नवंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद इसे लोगों के लिए खोल दिया जाएगा। यहा सिर्फ शौचालय का निर्माण शेष रहेगा। इस कार्य को दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। पार्क का निर्माण 25 एकड़ क्षेत्र में किया जा रहा है। इसके निर्माण में कुल 23.94 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे है। यह पहला ऐसा पार्क होगा जिसमे ओपन एम्फी थियेटर भी बनाया जा रहा है।

पार्क में हर्बल व औषधीय पौधों को लगाया जा रहा है। इसके साथ पार्क में पाथवे, हट, टेढे मेढे रास्ते, पार्किंग नेचुरल झील, वाटर वाडिज, लिली पोंड आदि बनाने का काय पूरा किया जा चुका है। पार्क में मानव शरीर के अंगो से संबंधित बीमारियों के क्लस्टरवार अलग-अलग पौधों का रोपण किया गया है। जिसमे इमली, बहेड़ा, रीठा, करी पत्ता चंदन, अर्जुन, आंवला, बेल, आम, अमरूद, अमलताश, टेशू, नीम कचनार, पपीता, चम्पा, कदम्ब, हारसिंगार, कनक, शरीफा, पतिराज लटकन, जंगली अमरूद, कॉटन ट्री, दालचीनी, गुग्गलन, चीकू के अलावा कई दर्जन प्रजातियों के पौधों को लगाया गया है। प्राधिकरण महाप्रबंधक राजीय त्यागी ने बताया कि 15 दिन में पार्क की बाउंड्रीवाल , गेट का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा। इसके साथ यहा जेनरेटर रूम भी बनाया जा रहा है। वहीं, पार्क में शौचालय का निर्माण दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा।

बोटनिक से जुड़े छात्रों को मिलेगा फायदा

ऐसे छात्र जो बोटनी (वनस्पति विज्ञान) में रूचि रखते है उनके लिए यह पार्क अद्भुत होगा। यहा दर्जनो प्रजातियों के पौधों को लगाया गया है। जिनका अध्यन वह प्राक़तिक परिवेश में कर सकेंगे। खास बात यह है कि यहा पौधों के साथ उनका पूर्ण ब्यौरा भी दिया जाएगा। ताकि छात्रों को पढ़ने व सीखने में असुविधा न हो। इसके साथ ही यदि कोई कॉलेज व छात्र अपना प्रस्तुतीकरण देना चाहता है तो वह ओपन थियेटर में दे सकेगा। इसके अलावा शौधालय का निर्माण भी किया जाएगा। जिसमे पौधों से संबंधित प्रजातियों को संरक्षित रखने के गुण से उन्हें वाकिफ कराया जाएगा।

Rishi

Rishi

आशीष शर्मा ऋषि वेब और न्यूज चैनल के मंझे हुए पत्रकार हैं। आशीष को 13 साल का अनुभव है। ऋषि ने टोटल टीवी से अपनी पत्रकारीय पारी की शुरुआत की। इसके बाद वे साधना टीवी, टीवी 100 जैसे टीवी संस्थानों में रहे। इसके बाद वे न्यूज़ पोर्टल पर्दाफाश, द न्यूज़ में स्टेट हेड के पद पर कार्यरत थे। निर्मल बाबा, राधे मां और गोपाल कांडा पर की गई इनकी स्टोरीज ने काफी चर्चा बटोरी। यूपी में बसपा सरकार के दौरान हुए पैकफेड, ओटी घोटाला को ब्रेक कर चुके हैं। अफ़्रीकी खूनी हीरों से जुडी बड़ी खबर भी आम आदमी के सामने लाए हैं। यूपी की जेलों में चलने वाले माफिया गिरोहों पर की गयी उनकी ख़बर को काफी सराहा गया। कापी एडिटिंग और रिपोर्टिंग में दक्ष ऋषि अपनी विशेष शैली के लिए जाने जाते हैं।

Next Story