×

Baghpat Crime News: बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी की जगह तमंचे और बन्दूक, अवैध असलहा के साथ फोटो वायरल

Baghpat Crime News: जनपद बागपत में बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी की जगह तमंचे और बन्दूक नजर आ रहा है जिसकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

Paras Jain

Paras JainReport Paras JainShashi kant gautamPublished By Shashi kant gautam

Published on 24 Sep 2021 12:33 PM GMT

Baghpat: Instead of book-copy in the hands of children, guns
X

बागपत: मबच्चों के हाथों में किताब-कॉपी की जगह तमंचे 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Baghpat Crime News: उत्तर प्रदेश के जनपद बागपत (District Baghpat) में अवैध असलहा के क्षेत्र में किस तरह से बाढ़ आई हुई है। इस बात का अंदाजा इसी बात से लग जाता है कि बड़ों से लेकर छोटे भी हथियारों को हाथ में लेकर खिलौनों की तरह खेलते नजर आते हैं। कुछ ऐसा ही नजारा बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के हिलवाडी गांव का बताया जा रहा है। यहां पर दो नाबालिग हाथ में तमंचा लिए हुए हैं। इतना ही नहीं तमंचे में कारतूस भी डालते हुए यह बच्चे साफ तौर पर दिखाई दे रहे हैं।

जनपद बागपत में दो नाबालिग तमंचा लिए और कारतूस को तमंचे में डालते हुए इन दोनों ने पहले फोटो खींची और फिर उसे सोशल मीडिया (social media) पर अपलोड भी कर दिया। इन दोनों नाबालिग की यह फोटो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है।

बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी की जगह अब तमंचे और बन्दूक

पुलिस इस पूरे मामले की गंभीरता से जांच भी कर रही है, लेकिन सवाल यह उठता है कि इन छोटे-छोटे नाबालिक बच्चों के हाथ में आखिर अवैध असलहा आया कहां से? जिन छोटे बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी, स्कूल का बैग होना चाहिए वो तमंचे से खेलते हुए नजर आते हैं। आये दिन जिस तरह महिला, युवा, किशोरों के हाथ मे तमंचे, बन्दूक के साथ फोटो-वीडियो एक के बाद एक वायरल हो रहे है उससे पुलिस की कानून व्यवस्था व कार्यशैली पर भी सवाल खड़े हो रहे है। ]

बच्चों के हाथों में किताब-कॉपी की जगह अब तमंचे और बन्दूक

क्षेत्र में इतना अवैध असलाह आखिर आ कहां से रहा है या फिर इनका निर्माण यहीं कहीं आसपास के क्षेत्र में हो रहा है जिस पर बागपत पुलिस जरा भी ध्यान नहीं दे रही है। कब कौन सी बड़ी घटना हो जाए इसका भी कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता ?

वहीं बीते 25 जनवरी को यूपी दिवस के मौके पर जिला कलेक्ट्रेट परिसर बागपत में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान बीजेपी सांसद डॉक्टर सत्यपाल सिंह ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा था कि जनपद में आज भी पढ़ने वाले बच्चों के हाथों में तमंचे हैं। जो वह लेकर चलते हैं और इसका असर यह होता है, कि उद्योगपति डर की वजह से यहां नहीं आ पाते । जिस कारण रोजगार लोगों को नहीं मिलता और जिस दिन यह बंद हो जाएगा, उस दिन उद्योगपति भी आना शुरू हो कर देंगे ।

हालांकि इस मामले में जब हमने बड़ौत कोतवाली के प्रभारी रवि रत्न से बात की तो उनका कहना था कि वायरल फोटो के आधार पर जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर असलाह बरामद करने का प्रयास जा रहा है । अभी मामले की जांच चल रही है । वैधानिक कानूनी कार्यवाही की जाएगी ।

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story