×

UP Election 2022: सपा-आरएलडी के प्रत्याशी आमने सामने, बिजनौर सदर सीट से रमेश तोमर और नीरज चौधरी चुनाव लड़ने को तैयार

UP Election 2022: जबकि गठबंधन के प्रत्याशी का कहना है कि जयंत चौधरी ने उन्हें इस सीट से सिंबल देखकर चुनावी मैदान में उतारा है।

‪Rohit Tripathi‬
Published on 21 Jan 2022 11:42 AM GMT
UP Election 2022
X

जंयत चौधरी और अखिलेश यादव की तस्वीर 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

UP Election 2022: बिजनौर सदर सीट से सपा का गठबंधन दोनों प्रत्याशी अपने टिकट का दावा करते हुए आमने सामने नजर आ रहे हैं।सपा प्रत्याशी का कहना है कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) द्वारा उन्हें बिजनौर सदर सीट से सपा के सिंबल पर चुनाव लड़ने के निर्देश मिले हैं।

जबकि गठबंधन के प्रत्याशी का कहना है कि जयंत चौधरी (Jayant Choudhary) ने उन्हें इस सीट से सिंबल देखकर चुनावी मैदान में उतारा है। बहरहाल दोनों प्रत्याशी अपने दावेदारी को लेकर आमने सामने नजर आ रहे हैं। बिजनौर सदर सीट से जयंत चौधरी ने डॉक्टर नीरज चौधरी को अपना प्रत्याशी बनाते हुए उन्हें सिंबल जारी कर चुनावी मैदान में उतरने के लिए प्रत्याशी बनाया है।

जबकि दूसरी तरफ सपा के डॉ रमेश तोमर का कहना है कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश ने उन्हें सपा के सिंबल पर बिजनौर सदर सीट से प्रत्याशी बनाकर जनता के बीच में भेजने का काम किया है। इस दावे को लेकर दोनों पार्टी के प्रत्याशी अपने को सदर सीट से प्रत्याशी बता रहे हैं।

जंयत चौधरी और अखिलेश यादव की तस्वीर (फोटो:सोशल मीडिया)

बरहाल इस सीट को लेकर आरएलडी के जिलाध्यक्ष अदनान का कहना है कि इस सीट से गठबंधन ने डॉक्टर नीरज को अपना प्रत्याशी बनाया है और टिकट को लेकर चल रहे संशय कुछ ही घंटों में दूर हो जाएगा। इस सीट से गठबंधन का प्रत्याशी कोई और नहीं बल्कि डॉक्टर नीरज चौधरी ही है।

उधर इस सीट से डॉ रमेश तोमर ने अपने दावेदारी बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश द्वारा उन्हें पार्टी का सिंबल दिया गया है।जैसा राष्ट्रीय अध्यक्ष का आदेश हुआ है उसी के आधार पर वह चुनावी मैदान में उतर कर जनता के बीच में जाएंगे और जल्द ही नामांकन करा के चुनावी मैदान में होंगे। सपा प्रत्याशी उनका भी साफ तौर से कहना है की टिकट संशय को लेकर जो भी चल रहा है।

उसमें जो भी राष्ट्रीय अध्यक्ष का फैसला है वह उन्हें स्वीकार है। जब उन्हें प्रत्याशी बनाकर चुनावी मैदान में उतारा गया है तो वह चुनाव में नामांकन कराएंगे। बाईट।रमेश तोमर।सपा प्रत्यशी

Divyanshu Rao

Divyanshu Rao

Next Story