×

Bulandshahr Firing News: RLD नेता हाजी यूनुस ने भतीजों समेत 16 लोगों पर दर्ज कराई FIR, जानें पूरा मामला

Bulandshahr Firing News: कल हुई फायरिंग केस में यूनुस गाजी ने अपने ही 4 भतीजों, जेल में बंद अनस के साले सहित 6 लोगों को नामजद करते हुए 8 -10 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

Sandip Tayal
Published on 6 Dec 2021 9:36 AM GMT
Bulandshahr Firing News: RLD नेता हाजी यूनुस ने भतीजों समेत 16 लोगों पर दर्ज कराई FIR, जानें पूरा मामला
X

हाजी यूनुस के काफिले पर हमला (फोटो साभार- सोशल मीडिया) 

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Bulandshahr Firing News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बुलंदशहर (Bulandshahr) में यूनुस गाजी (Yunus Ghazi) के काफिले पर ताबड़तोड़ फायरिंग (Firing) सिर्फ इसलिए की गई थी क्योंकि यूनुस गाजी अपने मरहूम विधायक हाजी अलीम (MLA Haji Aleem) के मुकदमे की पैरवी कर रहे थे और वह अपने भतीजे की हाईकोर्ट (High Court) में जमानत का विरोध कर रहे हैं ।

बुलंदशहर में RLD नेता व पूर्व ब्लॉक प्रमुख यूनुस गाजी के काफिले (Yunus Ghazi Ka Kafila) पर कल ताबड़तोड़ फायरिंग कर एक की हत्या कर दी गयी थी जबकि 4 लोग घायल हो गए थे। इस मामले में यूनुस गाजी ने कोतवाली देहात बुलंदशहर (Thana Kotwali Dehat Bulandshahr) में रिपोर्ट दर्ज करायी है। यूनुस गाजी ने अपने ही 4 भतीजों, जेल में बंद अनस के साले सहित 6 लोगों को नामजद करते हुए 8 -10 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस अभी तक किसी भी हमलावर को गिरफ्तार नहीं कर पाई है।

एफआईआर (फोटो साभार- सोशल मीडिया)

चाचा ने भतीजों के खिलाफ कराई ये FIR

बुलंदशहर (Bulandshahr) के कोतवाली देहात (Kotwali Dehat) में यूनुस गाजी ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा है कि अपने भाई अलीम गाजी की हत्या (Haji Aleem Ki Hatya) के मामले की पैरवी कर रहे हैं, जिसमें अलीम का पुत्र अनस जेल में बंद है। मुकदमे की पैरवी के दौरान हाईकोर्ट (High Court) से अनस की जमानत का भी विरोध कर रहे हैं, जिसको लेकर अनस रंजिश मानता है। यूनुस गाजी ने दर्ज कराई रिपोर्ट में कहा है कि अनस ने जेल से उसकी हत्या का षड्यंत्र रचा।

यूनुस गाजी ने अपने मरहूम विधायक भाई अलीम के 4 पुत्र अनस, दानिश, जैद, असद व अनस के साले नवेद पुत्र शरीफ निवासी गण बुलंदशहर, हारिस पुत्र काजिम अली निवासी ग्रेटर नोएडा 8-10 अज्ञात हमलावरों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। दर्ज रिपोर्ट में कहा गया है कि हमलावरों ने स्वचालित हथियारों से हत्या करने के इरादे से ताबड़तोड़ फायरिंग की। दर्ज रिपोर्ट में यूनुस गाजी ने अपनी भाभी रिहाना की हत्या का षड्यंत्र मृतक के ही पुत्र द्वारा कराए जाने का जिक्र किया है।

(फोटो साभार- सोशल मीडिया)

जानिए क्या था पूरा मामला?

3 दिन पहले हाथी की सवारी छोड़ रालोद का दामन थाम नल चलाने निकले पूर्व ब्लॉक प्रमुख हाजी यूनुस के काफिले पर कल दोपहर बाद उस समय कार सवार बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी थी। यह घटना तब हुई जब वह भाईपुरा में एक शादी समारोह में शिरकत करने के बाद मिर्जापुर के रास्ते बॉम्बे की पटरी से होते हुए बुलंदशहर लौट रहे थे। हमलावर फायरिंग करने के बाद फरार हो गए। ताबड़तोड़ फायरिंग में 5 लोगों को गोली लगी, ताबड़तोड़ फायरिंग इलाके में हड़कंप मच गया था।

आईजी जोन ने किया घटना स्थल का निरीक्षण

घटना की जानकारी पाकर रात पहुंचे मेरठ जोन के आईजी प्रवीण कुमार ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और हाजी यूनुस गाजी एसएसपी संतोष कुमार सिंह से मामले की जानकारी हासिल करने के बाद बताया कि हाजी यूनुस के काफिले में फायरिंग के दौरान गोली लगने से खालिद (45) पुत्र नूर हसन निवासी ग्राम अकबरपुर की मौत हो गयी जब कि शादाब (28) पुत्र रफीक निवासी ऊपरकोट बुलंदशहर, अफजाल (26) पुत्र यामीन निवासी कमालपुर, निजी गार्ड शमीम आलम (36) पुत्र नबी आलम निवासी कमालपुर व राशिद (45) पुत्र हनीफ निवासी नरसल घाट बुलंदशहर घायल हो गये।

घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से गंभीर घायलों को हर मेडिकल सेंटर के लिए रेफर कर दिया गया। सभी घायल चिकित्सारत है और खतरे से बहार बताये जा रहे है।

हमलावरों की गिरफ्तारी को 5 टीमें गठित

मेरठ जोन के आईजी प्रवीण कुमार ने एसपी संतोष कुमार सिंह से हमले को लेकर गहनता से मंत्रणा की जिसके बाद एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि हमलावरों की गिरफ्तारी शीघ्र कर ली जाएगी पांच टीमें गठित की गई है हर बिंदु पर जांच की जा रही है

यूनुस गाजी को सता रहा जान का खतरा!

रालोद नेता व पूर्व ब्लाक प्रमुख हाजी यूनुस गाजी ने बताया कि उन्होंने पुलिस से पहले भी अपने हत्या किए जाने की आशंका जताई थी और सुरक्षाकर्मियों की मांग की गई थी मगर उन्हें सुरक्षा कर्मी नहीं मिले यूनुस गाजी ने बताया कि यदि उनके पास सरकारी सुरक्षाकर्मी होते तो शायद हम लाने होता यह हमलावर मारे जाते। यूनुस गाजी की माने तो उसे और उसके परिजनों की जान को खतरा बना है जिसकी पुलिस अधिकारियों कुछ जानकारी दें सुरक्षा की मांग की गई है।

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story