×

Shakumbhari Devi Mandir : मां शाकंभरी देवी मंदिर में लगी भक्तों की लंबी कतार, ऐसी है मां की अद्भुत महिमा

Shakumbhari Devi Mandir : यूपी के सहारनपुर जनपद के थाना मिर्जापुर क्षेत्र के शिवालिक पहाड़ियों की तलहटी में स्थित है मां शाकंभरी देवी का मंदिर और आज अष्टमी के दिन उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब।

Neena Jain

Neena JainReport Neena JainVidushi MishraPublished By Vidushi Mishra

Published on 13 Oct 2021 11:04 AM GMT

shakumbhari devi
X

शाकुंभरी देवी (फोटो- सोशल मीडिया)

  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

Shakumbhari Devi Mandir : या देवी सर्वभूतेषु माहगौरीरूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः। मां जिसकी महिमा गीतों में गाई जाती है। हर कोई पाना चाहता है उसका आशीष। मां भगवती के चरणों में शीश नवाने के लिए लोगों की आस्था भी अपार है। सूरज की किरणों के साथ ही नहीं बल्कि उसके डूबने के बाद भी यहां पर श्रद्धालुओं भीड़ उमड़ी हुई है।

लंबी-लंबी कतारों में बस घंटों खड़े होकर मां के जयकारे लगाते हुए मां के दर्शनों का इंतजार करते हैं। धरती पर लेट कर दंडवत प्रणाम करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या भी कम नहीं है। महिला एवं पुरुष सभी लेट लेट कर मन्नत मांगते हैं। जी हां हम बात कर रहे हैं सिद्ध पीठ मां शाकंभरी देवी (Shakumbhari Devi Mandir) की।

मंदिर में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब
Shakumbhari Devi Mandir Kahan Per Hai

सहारनपुर (Shakumbhari Devi Mandir Saharanpur) जनपद के थाना मिर्जापुर क्षेत्र के शिवालिक पहाड़ियों की तलहटी में स्थित है मां शाकंभरी देवी का मंदिर और आज अष्टमी के दिन उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब।

उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, हिमाचल, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कई जिलों से यहां मां के दर्शन करने के लिए श्रद्धालु आ रहे हैं। प्राकृतिक सौंदर्य के बीच तलहटी में बसी मां शाकंभरी देवी की महिमा अपरम्पार है।

माता का यह रूप शताक्षी देवी
Shakumbhari Devi Temple Saharanpur History

जब राक्षस ने ब्रह्मा जी से चारों वेद वरदान में मांग लिए और जाकर छुप गया तो धरती पर सभी वैदिक क्रियाएं बंद हो गई। जब वैदिक क्रियाए नहीं हुई तो प्रकृति भी रूठ गई। अकाल पड़ गया धरती पर। ऐसे में भक्तों के दुख को देखकर माता के शरीर पर सहस्त्र नेत्र उभर आए और उनसे जल धारा बह निकली और माता का यह रूप कहलाया शताक्षी देवी।

लेकिन केवल जल से ही तो जीवन नहीं चलता ऐसे में मां भगवती का दूसरा रूप मां शाकंभरी देवी (Shakumbhari Devi Mandir) यानी शाक सब्जी की देवी (Shaak Sabji Ki Devi) प्रकट हुआ। और मां ने इसी रूप में उस राक्षस का केवल वध ही नहीं किया, बल्कि इस पृथ्वी पर शाक सब्जी (Shaak Sabji Ki Devi) का वरदान भी दिया और यहीं पर प्रकट हुई थी मां शाकंभरी देवी और उसी माता के दर्शन करने के लिए भक्तों की भीड़ दूर-दूर से आती है।

शाकुंभरी देवी (फोटो- सोशल मीडिया)

मां शाकंभरी के दर्शन से पूर्व भूरा देव के दर्शन किए जाते हैं, प्रथम पूज्यनीय यहां पर भूरा देव हैं, उनकी तपस्या से प्रसन्न होकर मां ने उन्हें आशीर्वाद दिया कि तुम्हारे दर्शन करने के बाद ही भक्त मेरे दर्शन कर पाएंगे।

मां के दर्शन के लिए भक्तों की लंबी कतार
Shakumbhari Devi Temple Saharanpur Timings

नवरात्रि की अष्टमी पर माता के दर्शन विशेष माने जाते हैं और भक्त माता को प्रसन्न करने के लिए अपनी झोली खुशियों से भरने के लिए माता के दर पर आये हैं। सुबह से नहीं बल्कि रात के 7:00 बजे, 8:00 बजे, 9:00 बजे और 11:00 बजे से कतारें लगी हुई हैं और अभी तक इन श्रद्धालुओं का नंबर नहीं आया है कि वह मां (Shakumbhari Devi Mandir) के दर्शन कर सकें।

ऐसे में आप अंदाजा लगा सकते हैं कि श्रद्धालुओं की कितनी भीड़ है और कैसे तपस्या कर यह मां के दर्शन करने के लिए लालायित हैं। भूखे प्यासे रहकर केवल एक ही आस है मां के दर्शन हो जाएं।

ऐसा है विश्वास

मां शाकुंभरी देवी की महिमा (फोटो- सोशल मीडिया)

भक्तों का कहना है कि वह यहां पर अपने पिता की उंगली पकड़ कर आए थे और आज अपने बच्चों और पोतों को लेकर यहां आ रहे हैं। पीढ़ी दर पीढ़ी यह सिलसिला जारी है और जारी रहेगा, क्योंकि मां से उनकी आस्था कमतर होने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

ऐसे एक या दो नहीं हुई लाखों श्रद्धालु हैं जो मां में आस्था रखते हुए यहां आते हैं धरती पर दंडवत प्रणाम कर लेट लेट कर यहां पहुंच रहे हैं और इनमें केवल पुरुष ही नहीं है स्त्रियां भी हैं। जो अपनी मन्नत पूरी होने के बाद मां का धन्यवाद कुछ इस तरीके से करती हैं।

शादी नहीं हो रही थी मां ने कहा कि बेटे की हो गई शादी तो वो इस तरह से धरती पर लेट लेट कर उसके दर तक आएगा। शादी हुए 5 महीने हो गए हैं अब नवरात्रों में वह वह मां (Shakumbhari Devi Mandir) के इसी आशीर्वाद का धन्यवाद देने लेट लेट कर ही आ रहा है।

हम कह सकते हैं मां (Shakumbhari Devi Mandir) के चेहरे से नूर निखरता है, हर दिल को सुकून मिलता है, जो भी आता है मां के द्वारे, उसे कुछ ना कुछ जरूर मिलता है।

Shakumbhari Devi Mandir , Shaak Sabji Ki Devi, Shakumbhari Devi Mandir Kahan Per Hai, Shakumbhari Devi Mandir Saharanpur, Shakumbhari Devi Temple Saharanpur History, Shakumbhari Devi Temple Saharanpur Timings, shakumbhari devi temple saharanpur contact number, shakumbhari devi mandir open today, is shakumbhari devi temple open tomorrow, mata shakumbhari devi temple saharanpur, uttar pradesh, shakumbhari devi today news, shakumbhari devi story, shakumbhari devi photo, navratri 2021, ma durga, mata rani, navratri ki aastmi, Saharanpur

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story