×

UP Election 2022: शामली के कैराना विधानसभा सीट से मृगांका सिंह बनीं बीजेपी प्रत्याशी, कहा- विकास के मुद्दे पर लड़ेंगे चुनाव

UP Election 2022: नपद शामली (District Shamli) की कैराना विधानसभा सीट (Kairana assembly seat) से भाजपा (BJP) के कद्दावर नेता स्वर्गीय हुकम सिंह की पुत्री मृगांका (BJP Candidate Mriganka Singh) को अपना प्रत्याशी घोषित किया है।

Pankaj Prajapati
Published on 15 Jan 2022 4:46 PM GMT
BJP Candidate Mriganka Singh
X

शामली: कैराना विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी मृगांका

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

Shamli News: भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) द्वारा हरियाणा सीमा से सटी अति महत्वपूर्ण जनपद शामली (District Shamli) की कैराना विधानसभा सीट (Kairana assembly seat) से भाजपा (BJP) के कद्दावर नेता स्वर्गीय हुकम सिंह की पुत्री मृगांका (BJP Candidate Mriganka Singh) को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। इससे पहले 2017 के विधान सभा चुनाव में मृगांका सपा के नाहिद हसन से चुनाव हार गई थीं।

दरअसल, आपको बता दें कि मामला कैराना विधानसभा सीट का है जहां पर भारतीय जनता पार्टी ने भाजपा के कद्दावर नेता स्वर्गीय हुकम सिंह की पुत्री मृगांका सिंह को अपना प्रत्याशी घोषित किया है। मृगांका सिंह का टिकट जब कैराना से फाइनल हुआ तो उनका कहना है कि भाजपा सोच इमानदार काम दमदार करने वाली सरकार है और यह डबल इंजन की सरकार है पिछले 5 वर्षों में इसके द्वारा जो विकास कार्य किए गए हैं उन्हें विश्वास है कि कैराना के लोग भाजपा पर अटूट विश्वास करेंगे और उसके प्रतिनिधि को ही चुनेंगे।


कैराना मेरे पिता स्वर्गीय हुकम सिंह की स्वर्गीय हुकम सिंह की- मृगांका

उन्होंने कहा कि 'उनके पिता स्वर्गीय हुकम सिंह की कैराना और लोगों का उनके प्रति अटूट प्रेम विश्वास और समर्थन रहा है। वहीं आज मेरे लिए भी विश्वास का एक कारण है की कैराना की जनता का प्यार मुझे भरपूर मात्रा में मिलेगा।' एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि भाजपा में कोई अंतर्विरोध नहीं है, ना ही उनके परिवार में किसी तरह का कोई विरोध है। और सभी मिलकर चुनाव लड़ेंगे।


हुकम सिंह का परिवार और मुनव्वर हसन का परिवार आमने सामने होता है

कैराना विधानसभा पर जब भी चुनाव होता है तो दो दो लोगों के बीच होता है जिसमें हुकम सिंह का परिवार और मुनव्वर हसन का परिवार आमने सामने होता है कैराना का इतिहास है कि स्वर्गीय बाबू हुकम सिंह की चौपाल एक तरफ और एक तरफ स्वर्गीय मनोहर हसन का चबूतरा के नाम से कराने के अंदर चुनाव होता है जैसे चौपाल में बाबू हुकम सिंह बैठकर पंचायत में कोई भी फैसला सुनाते थे दूसरी ओर स्वर्गीय मनोवर हसन भी चबूतरे पर बैठ कर कोई भी ऐतिहासिक फैसला सुनाते थे इसी को लेकर यह कैराना का इतिहास है


मृगांका का सिंह का कहना है कैराना में पलायन का मुद्दा आगे रहेगा क्योंकि समाजवादी पार्टी की सरकार में कैराना से पलायन हुआ है लेकिन योगी की सरकार में दहशतगर्दी वह अपराधियों का पलायन हुआ है !

taja khabar aaj ki uttar pradesh 2022, ताजा खबर आज की उत्तर प्रदेश 2022

Shashi kant gautam

Shashi kant gautam

Next Story